आचंलिक

भूख हड़ताल पर बैठे कांग्रेस नेता मिमरोट की तबीयत बिगड़ी

  • चार दिनों से चल रही हड़ताल, लेकिन जनप्रतिनिधियों की बनी हुई उदासीनता

नागदा। बीते दिनों जावरा-उज्जैन मार्ग पर हुई एक दर्दनाक सड़क दुर्घटना का मंजर अभी लोगों के दिमाग में है और इस मार्ग की स्थिति सुधारने के साथ ही स्कूली बच्चों की सुरक्षा की मांग को लेकर बीते चार दिनों से आंदोलन किया जा रहा है। इसी दौरान बीती रात भूख हड़ताल पर बैठे कांग्रेस के पूर्व पार्षद जगदीश मिमरोट की तबीयत अचानक बिगड़ गई। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले एक सड़क दुर्र्घटना में कुछ स्कूली बच्चों की मौत हो गई थी। बीती रात करीब 12 बजे भूख हड़ताल पर बैठे कांग्रेस के पूर्व पार्षद मिमरोट की अचानक तबीयत बिगड़ गयी। घबराहट ज्यादा होने पर उन्हें प्राथमिक चेकअप के बाद ऐबुलेंस से सिविलअस्पताल ले जाकर उपचार किया गया। कुछ घंटो के बाद ही रात ककरीब 2.30 बजे तबीयत ठीक होने पर वापस भूखाहड़ताल आंदोलन स्थल पर लौट आए। भूख हड़ताल पर बैठे कांग्रेस नेता चेतन यादव की भी शुगर और बीपी काफी बढ़ा हुआ है । कमलेश चावंड, चेतन पाटीदार, संजय सिसौदया, सुशीला जयपाल, हेमलता तोमर आदि भी भूख हड़ताल के चलते कमजोरी महसूस कर रहे है। इधर भूख हड़ताल पर बैठे लोगों को जनता का समर्थन मिल रहा है, लेकिन जनप्रतिनिधियों की उदासीनता देखने को मिल रही है।


किसी ने नहीं ली सुध
जनआंदोलन को आज पाँचवा दिन है परंतु अभी तक आंदोलनकारियों से चर्चा करने ना तो कोई प्रशासन का अधिकारी आया और ना ही सत्तापक्ष का कोई जनप्रतिनिधि। आंदोलनकारियों की प्रमुख मांग फोरलेन का निर्माण नहीं होने तक वाहनों की गति निर्धारित करने के लिए स्पीड राडार गन लगाने, हादसे में घायलों को बेहतर उपचार के लिए जनसेवा अस्पताल में आधुनिक उपकरण जुटाने, सिविल अस्पताल के नए भवन का निर्माण जल्द शुरू करने, नगर में भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की है।

विधायक गुर्जर ने दिया आश्वासन
शनिवार को आंदोलन के चौथे दिन आदर्श स्कूल के 150 छात्र-छात्राओं ने आंदोलन स्थल पर पहुंचकर दिवंगत बच्चों को श्रद्धांजलि दी। साथ ही यादव के साथ 1 घंटा सांकेतिक भूख हड़ताल की। इसके अलावा उन्हेल से भी पूर्व नपाध्यक्ष प्रतिनिधि सचिन पाटनी सहित हादसे मेें घायल बच्चों के परिजन भी कांग्रेस नेता के इस जन आंदोलन के सहभागी बनें। वहीं शुक्रवार देर रात विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने आंदोलन स्थल पर पहुंचकर यादव के जनआंदोलन को समर्थन दिया। विधायक ने उनकी मांगों को शासन स्तर पर उठाने का आश्वासन भी दिया। उनके साथ शहर कांग्रेस अध्यक्ष राधे जायसवाल, ग्रामीण किसान कांग्रेस अध्यक्ष वीरेंद्र गुर्जर सहित पूरी टीम थी।

Share:

Next Post

बिजली जाते ही एक्सरे, ईसीजी, सोनोग्राफी सीटी स्केन के लिए परेशान मरीज

Sun Aug 28 , 2022
अस्पताल में तीन जनरेटरों के बावजूद भी व्यवस्थाएं गड़बड़ सीहोर। जिला मु यालय पर शनिवार को नगर में अनेकों क्षेत्रों में बिजली कंपनी द्वारा मेंटनेंस का कार्य किया गया। इस दौरान नगर में कई स्थानों पर बिजली व्यवस्था बाधित रही। मु यालय पर जिला अस्पताल में भी करीब चार से पांच घंटे बिजली बंद रही। […]