टेक्‍नोलॉजी देश

दिल्ली-NCR में बना देश का सबसे बड़ा चार्जिंग स्टेशन, एक बार में चार्ज कर सकेंगे इतनी इलेक्ट्रिक कार

नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर(Delhi-NCR) में अब देश का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन भी होगा. इस चार्जिंग स्टेशन के चालू होने से पहले सबसे बड़े चार्जिंग स्टेशन(largest charging station) का रिकॉर्ड मुंबई शहर का था.

यहां एक साथ चार्ज हो सकेंगी 100 गाड़ियां
यह चार्जिंग स्टेशन गुरुग्राम (Gurugram) के सेक्टर-52 में दिल्ली-जयपुर हाइवे पर है. यहां एक बार में 100 इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) चार्ज हो सकती हैं. अभी इस चार्जिंग स्टेशन (Electric Vehicle Charging Station) पर 96 चार्जर ने काम करना शुरू कर दिया है, बाकी चार्जर भी जल्दी काम करने लगेंगे. मिंट की खबर के मुताबिक इस चार्जिंग स्टेशन को अलेक्ट्रिफाई प्राइवेट लिमिटेड (Alektrify Private Limited) ने खोला है.

कंपनी ने एक बयान में जानकारी दी कि इस चार्जिंग स्टेशन को सुरक्षा के लिए जरूरी सर्टिफिकेशन कंप्लायंस को पूरा करने के बाद खोला गया है. दो हफ्ते पहले ही ऊर्जा मंत्रालय(Ministry of Power) की ओर से इसे लेकर निरीक्षण किया गया था. सरकार ने राजस्व साझा करने के आधार पर निजी कंपनियों को सरकारी भूमि पर बड़े चार्जिंग स्टेशन बनाने की अनुमति दी है.


पहले नवी मुंबई में था सबसे बड़ा चार्जिंग स्टेशन
इससे पहले देश का सबसे बड़ा चार्जिंग स्टेशन नवी मुंबई था. यहां पर 16 AC और 4 DC चार्जिंग पोर्ट बने थे.

द्वारका में खुला Reliance-BP का चार्जिंग स्टेशन
इसके अलावा एक और बड़ा चार्जिंग स्टेशन Reliance-BP ने मिलकर खोला है. ये स्टेशन दिल्ली के द्वारका इलाके में खोला गया है. इस स्टेशन को BluSmart के साथ मिलकर खोला गया, जो इस चार्जिंग स्टेशन की मुख्य कस्टमर भी होगी. ब्लूस्मार्ट इलेक्ट्रिक गाड़ियों के माध्यम से टैक्सी सर्विस प्रोवाइड करने वाली कंपनी है.

Share:

Next Post

भारत ने इस्राइल से डिफेंस डील के बाद खरीदा था पेगासस स्पाईवेयर : रिपोर्ट में दावा

Sat Jan 29 , 2022
वॉशिंगटन/नई दिल्ली। इसराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ (NSO) द्वारा तैयार पेगासस स्पाईवेयर (Pegasus spyware) भारत में एक बार फिर चर्चा में हैं। अब चर्चा यह है कि भारत सरकार ने 2017 में इस्राइल का जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस (spy software pegasus) खरीदा था। यह खुलासा हुआ है अमेरिकी अखबार द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में। […]