मनोरंजन

दंगल एक्ट्रेस जायरा वसीम के पिता का निधन, लोगों से कहा- दुआओं में याद करें…

नई दिल्‍ली(New Delhi) । फिल्म दंगल(film dangal) में गीता फोगाट (Geeta Phogat)के बचपन का किरदार निभाने वालीं जायरा वसीम(zaira wasim) इन दिनों काफी मुश्किल दौर से गुजर रही हैं। एक्ट्रेस के पिता जाहिद वसीम(Father: Zahid Wasim) का निधन (death)हो गया है। जायरा ने सोशल मीडिया पर इस बारे में बताया। जायरा ने सभी से कहा कि दुआओं में उनके पिता को याद करें। उन्होंने पिता के साथ अपने बचपन की फोटो शेयर की है जिसमें वह उन्हें किस कर रही हैं।

जायरा का पोस्ट

फोटो को शेयर कर जायरा ने लिखा, ‘मेरे पिता जाहिद वसीन का निधन हो गया है। प्लीज उन्हें अपनी दुआओं में याद करें और अल्लाह से बोलें कि उनकी वहां रक्षा करें। हम सब अल्लाह के बच्चे हैं और एक दिन उनके पास ही जाना है।’

बता दें कि जायरा, दंगल के अलावा आमिर की ही फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार और प्रियंका चोपड़ा और फरहान अख्तर की फिल्म द स्काई इस पिंक में भी काम कर चुकी हैं।


नेशनल अवॉर्ड विनर हैं जायरा

जायरा को 64 नेशनल अवॉर्ड में बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवॉर्ड भी दिया गया है। इस बारे में बताते हुए जायरा ने पिंकविला को दिए इंटरव्यू में कहा था कि उनके पिता को नहीं पता था कि नेशनल अवॉर्ड किया है। उन्होंने कहा था कि मुझे 2 घंटे लगे पापा को समझाने में कि नेशनल अवॉर्ड क्या है। उन्हें अब भी नहीं लगता कि ये बड़ी चीज है। लेकिन जब मुझे अवॉर्ड मिला तब मेरे पैरेंट्स को काफी गर्व हुआ।

अवॉर्ड अनाउंसमेंट की फनी स्टोरी बताते हुए जायरा ने कहा था कि जब अवॉर्ड की अनाउंसमेंट हुई तब मैं सो रही थी और जब 2 बजे उठी और फोन चेक किया तो देखा 30 मिस्ड कॉल आई थीं मेरे दोस्त और परिवार वालों की। कई मैसेज आए थे बधाई के। मेरे कजिन का मैसेज आया कि तुमने मुझे नहीं बताया कि तुम्हें अवॉर्ड मिलने वाला है। मैंने कहा कौनसा अवॉर्ड। इसके बाद मुझे न्यूज से पता चला, लेकिन तब तक मुझे भी इस अवॉर्ड के बारे में नहीं पता था। मुझे यह पता था कि यह कोई बड़ा अवॉर्ड है, लेकिन यह नहीं पता था कि कैसे होता है और कौन देता है।

जायरा का रिटायरमेंट

हालांकि 3 फिल्में करने के बाद ही जायरा ने साल 2019 में फिल्म इंडस्ट्री से रिटायरमेंट ले लिया था। उन्होंने धर्म की वजह से इंडस्ट्री छोड़ने का फैसला कर लिया था।

Share:

Next Post

फर्जी बिल महाघोटाले में हिन्दू-मुस्लिम बने भाई-भाई, इंदौर नगर निगम में पेश की कौमी एकता की अनूठी मिसाल

Wed May 29 , 2024
हम भ्रष्टन के भ्रष्ट हमारे… जाति-धर्म से ऊपर उठकर सबने गंगा-जमुनी तहजीब की नजीर के साथ लगाई भ्रष्टाचार की गटर गंगा में डूबकी इंदौर। सोशल मीडिया पर भक्त बिरादरी 24 ही घंटे हिन्दू-मुस्लिम करती है और इस समुदाय को पंक्चर पकाने का काम भी न देने की सिफारिश की जाती है, तो दूसरी तरफ नगर […]