इंदौर न्यूज़ (Indore News)

मास्टर प्लान की सडक़ें, फ्लायओवर, भूखंडों के टेंडर सहित प्ले झोन पर आज फैसले

इंदौर। प्राधिकरण की बोर्ड बैठक आज दोपहर साढ़े 12 बजे आईटीसी में आयोजित की गई है, जिसमें 40 प्रस्तावों पर निर्णय लिए जाएंगे। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय द्वारा नए भवनों और छात्रावासों का निर्माण भी प्राधिकरण से करवाया जा रहा है, तो योजना 140, 78, 91 सहित अन्य भूखंडों और फ्लेटों के टेंडरों के साथ ही मास्टर प्लान और टीपीएस में शामिल महत्वपूर्ण सडक़ों व फ्लायओवरों के निर्माण को भी मंजूरी दी जाएगी। प्रवासी सम्मेलन और ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के मद्देनजर सुपर कॉरिडोर पर चल रहे सौंदर्यीकरण, प्रकाश व्यवस्था सहित अन्य कार्यों की मंजूरी भी बोर्ड से ली जाएगी। वहीं पिछली बैठक में लिए गए निर्णयों की पुष्टि भी होना है।

प्राधिकरण दफ्तर में इन दिनों रिनोवेशन के भी काम चल रहे हैं। अध्यक्ष के चैम्बर से लेकर बोर्ड रूम नए सिरे से बनाया जा रहा है, जिसके चलते आज की बोर्ड बैठक दफ्तर के बाहर टेनिस क्लब में आयोजित की गई है। कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी की यह पहली बोर्ड बैठक भी होगी। वहीं जो एजेंडा तैयार किया गया है उसमें 40 प्रस्ताव मंजूरी के लिए रखे गए हैं। टीपीएस-3 के तहत 100 फीट चौड़ी सडक़ के निर्माण के अलावा योजना में शामिल अंदरुनी सडक़ों के अलावा फूटी कोठी चौराहा पर बनने वाले फ्लायओवर, तुलसी नगर नाले से लेकर वसुंधरा कॉम्प्लेक्स तहत 100 फीट चौड़ी मास्टर प्लान की सीमेंट कांक्रीट सडक़ की मंजूरी के साथ ही एमआर-12 के निर्माण पर भी निर्णय होगा, जिसे टीपीएस-8 में शामिल किया गया है।


भांगिया, कुमेर्डी, भौंरासला को जोड़ते हुए यह महत्वपूर्ण सडक़ बनना है, जिससे उज्जैन रोड की सीधे एबी रोड होते हुए बायपास तक कनेक्टीविटी हो सकेगी। अभी निगम के साथ-साथ प्राधिकरण को भी दोनों बड़े आयोजनों की तैयारियों का जिम्मा सौंपा है, क्योंकि सुपर कॉरिडोर प्राधिकरण ने ही बनाया, लिहाजा एयरपोर्ट परिसर में होने वाले काम के साथ-साथ सुपर कॉरिडोर पर अस्थायी प्रकाश व्यवस्था, ग्रीन बेल्ट विकसित करने से लेकर अन्य कार्य किए जा रहे हैं। इनकी मंजूरी भी होगी। वहीं राजेन्द्र नगर में जो ऑडिटोरियम बनाया जा रहा है उसका नामकरण लता मंगेश्कर के नाम पर करने और ऑडियो सिस्टम से लेकर अन्य बचे कार्यों की भी मंजूरी बोर्ड देगा। योजना 78 के औद्योगिक उपयोग के 18 में से 10 भूखंडों के टेंडर पिछले दिनों प्राधिकरण को मिले। इनके अलावा विभिन्न योजनाओं में लीज पर आबंटित भूखंडों पर निर्मित बहुमंजिला भवन के प्रकोष्ठों के नामांतरण, लीज नवीनीकरण, योजना 140 में आवासीय उपयोग के भूखंड पर प्राप्त उच्च दर के टेंडर से लेकर योजना 74-सी में स्कूल के भूखंड के लीज नवीनीकरण शामिल है।

Share:

Next Post

PM मोदी बोले- 2014 के बाद मेडिकल कॉलेजों की संख्या में 65% से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई

Sat Dec 24 , 2022
राजकोट। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को स्वामीनारायण गुरुकुल राजकोट संस्थान के 75वें ‘अमृत महोत्सव’ को वीडियो का कांन्फ्रेंसिंग के जरिये संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन में कई अहम मुद्दों पर चर्चा कीं। पीएम मोदी ने स्वामीनारायण गुरुकुल के 75 वर्षों की यात्रा पूरी होने के अवसर पर बधाई देते हुए कहा कि देश आजाद […]