देश मध्‍यप्रदेश

‘चार धाम यात्रा पर अभी न जाए’, भारी भीड़ और 11 लोगों की मौत के बाद MP सरकार की अपील

भोपाल: उत्तराखंड (Uttarakhand) में चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra) पर जाने का मन बना रहे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के श्रद्धालुओं से प्रदेश सरकार (Goverment) ने अभी न जाने की अपील की है. मध्य प्रदेश की मोहन यादव सरकार के धार्मिक न्यास, धर्मस्व, संस्कृति और पर्यटन मंत्री धर्मेन्द्र सिंह लोधी (Dharmendra Singh Lodhi) ने अपील करते हुए चार धाम यात्रा का प्रोग्राम स्थगित करने की बात कही है.

मंत्री धर्मेन्द्र सिंह लोधी ने अपील करते हुए कहा कि फिलहाल उत्तराखंड चार धाम यात्रा पर जाने की प्लानिंग स्थगित कर दें. उन्होंने कहा कि दर्शनार्थियों की संख्या अधिक होने से यमुनोत्री-गंगोत्री मार्ग पर लंबा जाम लग गया है. केदारनाथ मार्ग पर भी श्रद्धालुओं को बीच-बीच में रोकना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड यात्रा पर देश भर से लाखों की तादाद में श्रद्धालु पहुंच गए हैं. ऐसे में वहां अव्यवस्था फेल गई है. जगह-जगह जाम की स्थिति भी बन जा रही है.


बता दें चार धाम यात्रा पर अब तक 11 लोगों की मौत हो गई है. 10 मई को भी दो पुरुष सहित एक महिला की मौत हुई है. छह मई को मध्य प्रदेश से 32 श्रद्धालुओं का जत्था चार धाम यात्रा के लिए रवाना हुआ था, जहां 10 मई को यमुनोत्री में बीना के पुजारी रामगोपाल रावत, नीमच की संपत्ति बाई धाकड़ और इंदौर के रामप्रसाद रावत की मौत हो गई है. परिजन ने यमुनोत्री में दाह संस्कार किया है.

वहीं एक नया आदेश जारी किया गया, जिसमें साफतौर मंदिर परिसर के 50 मीटर दायरे में रील्स बनाने पर पूरी तरह बैन लगाया गया है. उत्तराखंड शासन की इस आदेश में कहा गया कि प्रदेश में चार धाम यात्रा संचालित की जा रही है, जिसमें बड़ी तादाद में श्रद्धालु दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं. इसके लिए शासन-प्रशासन व्यवस्था बनाने का काम कर रहा है, लेकिन कुछ लोग जो वीडियो शूट या रील्स बना रहे हैं, उससे श्रद्धालुओं को परेशानी हो रही है.

Share:

Next Post

CM मोहन यादव ने अरविंद केजरीवाल पर साधा निशाना, बोले- 'आजादी के बाद ऐसा पहली बार...'

Fri May 17 , 2024
इंदौर: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव (CM Mohan Yadav) ने एक बार फिर दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि आजादी (Independence) के बाद से पहली बार ऐसा हुआ कि एक प्रकरण में मुख्यमंत्री को जेल (Jail) जाना पड़ा, इसके बावजूद उन्होंने इस्तीफा […]