विदेश

पहले लोगों को दक्षिणी गाजा में भेजा, अब वहीं बम बरसा रहा है इजरायाल, शरण लिए लोग असुरक्षित

नई दिल्‍ली (New Dehli)। युद्ध के शुरुआती दिनों में इजरायल (Israel)ने उत्तरी गाजा पट्टी (Gaza Strip)के लोगों को दक्षिण (South)की तरफ जाने के लिए कहा था। उनसे कहा गया कि आप हमारे हमले में वहां सुरक्षित (Safe)रहेंगे। इसके बावजूद, इजरायली एयरफोर्स (Israeli Air Force)के विमान दक्षिणी गाजा (aircraft southern gaza)में हमले कर रहे हैं। इन हमलों से वहां शरण लिए लोग सहम गए हैं। वे वहां भी अब उतने ही असुरक्षित हैं, जितने कि वे उत्तर में अपने घरों में थे। गाजा में अधिकारियों का कहना है कि 7 अक्टूबर को शुरू हुए इजरायली हमलों के बाद से 6,546 फिलिस्तीनी मारे गए हैं।


न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गाजा पट्टी के लोगों ने कहा कि 25 अक्टूबर को दक्षिण में बमबारी तेज हो गई। एक हमले में मिस्र की सीमा से लगभग 10 किमी दूर खान यूनिस में कई अपार्टमेंट की इमारतें ध्वस्त हो गईं। आईडीएफ ने कहा है कि भले ही हमास का मुख्य शक्ति केंद्र गाजा शहर में है, फिर भी यह पूरे इलाके में आम नागरिकों के बीच फैला हुआ है। सेना ने बुधवार को कहा, “जहां भी हमास का ठिकाना होगा, आईडीएफ उन पर हमला करेगा। साथ ही आम नागरिकों को नुकसान कम हो, इसके लिए सावधानी बरतेगा।”

इजरायली सेना ने कहा है कि जिन घरों में आतंकवादी रहते हैं उन्हें ही निशाना बनाया जा रहा, भले ही उनके साथ नागरिक भी रहते हों। इजरायली वायु सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हाल ही में कहा था, “तथाकथित निजी घर निजी घर नहीं हैं, उनमें हमास के आतंकी शरण लिए हुए हैं।”

इजरायल ने दक्षिण को खाली करने का आदेश क्यों दिया?

इजरायली सेना ने 12 अक्टूबर को कहा कि गाजा की 23 लाख आबादी में से लगभग आधे को 24 घंटों के भीतर गाजा के दक्षिणी हिस्से में चले जाना चाहिए। सेना ने कहा कि इस आदेश का उद्देश्य नागरिकों को हमास के आतंकी ठिकानों से दूर ले जाना है। सैन्य प्रवक्ता जोनाथन कॉनरिकस ने बाद में कहा, “हम गाजा शहर में महत्वपूर्ण सैन्य गतिविधि के लिए क्षेत्र तैयार कर रहे हैं। यह अगला चरण है। इसलिए हम नागरिकों से गाजा नदी के दक्षिण में जाने के लिए कह रहे हैं।”

इजरायल ने गाजा के साथ सीमा पर बड़ी संख्या में सैनिक तैनात कर दिए हैं। उम्मीद की जा रही है कि वह जमीन पर आक्रमण शुरू करेगा। 18 अक्टूबर को सेना ने गाजा के निवासियों से दक्षिणी गाजा के तट पर अल मवासी में को खाली करने का आग्रह किया था। इजरायल ने 22 अक्टूबर को अपनी अगली चेतावनी में कहा कि उत्तर में रहने वाले हर उस व्यक्ति को आतंकवादी संगठन के समर्थकों के रूप में माना जाएगा, अगर वे इस इलाके को खाली नहीं करते हैं।

हमास ने फिलिस्तीनियों से इजरायली चेतावनियों को नजरअंदाज करने का आग्रह किया था। इसके बावजूद स्थानीय लोगों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों का कहना है कि उत्तर से दूर लोगों का बड़े पैमाने पर विस्थापन हुआ है। ओसीएचए ने 24 अक्टूबर को अनुमान लगाया कि गाजा के भीतर 14 लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने क्या कहा है?

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस ने कहा कि हजारों लोगों को अपने घर छोड़ने के लिए कुछ ही घंटे देना खतरनाक और बेहद परेशान करने वाला था। पश्चिमी देशों की कई सरकारों ने फंसे हुए नागरिकों के लिए मानवीय सहायता के लिए लड़ाई को रोकने का आह्वान किया है। साथ ही अरब देशों ने इजराइल से युद्ध रोकने का आह्वान किया है।

Share:

Next Post

अमेरिका में फिर फायरिंग की घटना, लेविस्टन में 22 लोगों की मौत, 60 लोग घायल

Thu Oct 26 , 2023
वॉशिंगटन। अमेरिका (America) में फिर एक बार हिंसा की खबर सामने आई है। इस बार लेविस्टन शहर (city ​​lewiston) में दिल दहला देने वाली घटना हुई है, जहां एक शख्स द्वारा की गई अंधाधुंध फायरिंग (firing) में 22 लोगों की मौत हो गई. वहीं 50 से 60 लोग घायल हो गए हैं. इस फायरिंग में […]