बड़ी खबर मध्‍यप्रदेश

होशंगाबाद: रेलवे ट्रैक पर बेटे ने की आत्‍महत्‍या, शव के पास बैठा पिता दूसरी ट्रेन की चपेट में आया, मौत

होशंगाबाद। पारिवारिक विवाद (family dispute) के चलते होशंगाबाद(hoshangabad) में एक युवक ने रेलवे ट्रैक(railway track) पर जाकर आत्महत्या(suicide) कर ली। सूचना मिलने पर पिता भी वहां पहुंचे। शव को गोद में लेकर विलाप कर रहे थे। तभी ट्रैक पर दूसरी ट्रेन आ गई और उसकी टक्कर(train collision) से पिता घायल हो गए। अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने भी दम तोड़(died in hospital) दिया।


घटना गुरुवार-शुक्रवार की दरम्यानी रात की है। छोटेलाल पिता मोहनलाल विश्वकर्मा, उम्र-36 वर्ष और उनके पिता मोहनलाल पिता सीताराम विश्वकर्मा, उम्र-60 वर्ष, दोनों की मौत हो गई। जीआरपी में एसआई एसएस शुक्ला ने बताया कि छोटलाल की पत्नी प्रीति ससुराल से दूर खेरुआ में रहती है। पति-पत्नी का आपस में विवाद है। इसी वजह से दोनों अलग रहते हैं। इस वजह से वह तनाव में रहता था। गुरुवार रात को भी परिवार में विवाद हुआ। तब छोटेलाल घर से थोड़ी दूर जाकर रेलवे ट्रैक पर लेट गया। ट्रेन से कटकर उसने अपनी जान दे दी। घरवालों को पता चला तो वे भी रेलवे ट्रैक की ओर दौड़े। पिता मोहनलाल अपने बेटे का शव गोद में रखकर विलाप करने लगा। इसी दौरान अगली ट्रेन आ गई। इंजन से टकराकर मोहनलाल दूर जा गिरे। सिर में चोट लगी है। इलाज के दौरान उनकी भी मौत हो गई। सोहागपुर की पूरी बस्ती ही इस घटना से गमगीन हो गई।
छोटेलाल और मोहनलाल का घर रेलवे ट्रैक से सिर्फ 100 मीटर दूर है। सोहागपुर-पलकमती नदी के बीच में खंबा नंबर 795/10 से 795/14 के बीच यह हादसा हुआ। ट्रेन की चपेट में आने के बाद युवक का शव क्षत-विक्षत हो गया। 200 मीटर तक उसके शरीर के अंग बिखर गए। जीआरपी ने देर रात उन अंगों को एकत्रित किया।

Share:

Next Post

झांंसी में अखिलेश यादव का स्वागत कार्यक्रम, 30 से ज्यादा सपा कार्यकर्ताओं का मोबाइल चोरी, थाने में दर्ज की शिकायत

Fri Dec 3 , 2021
झांसी। समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष (President of Samajwadi Party) व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Former Chief Minister Akhilesh Yadav) झांसी में  विजय रथ यात्रा लेकर पहुंचे। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव(President of Samajwadi Party Akhilesh Yadav ) के विजय रथ यात्रा (Vijay Rath Yatra) के स्वागत के लिए इलाइट चौराहे पर जमा हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ […]