टेक्‍नोलॉजी

कैसे लीक हो जाते हैं प्राइवेट वीड‍ियो, इससे कैसे करें बचाव, जानिए सब कुछ

नई दिल्ली: आज के दौर में स्मार्टफोन हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गया है. लगभग सभी लोग हर दिन इसका इस्तेमाल करते हैं. इसमें कोई शक नहीं है कि स्मार्टफोन के कई फायदे हैं, लेकिन इसके कई नुकसान भी हैं. आए दिन प्राइवेट वीडियो या MMS लीक होने की खबरें सामने आती रहती हैं. ऐसी ही घटना हाल ही में मोहाली की प्राइवेट यूनिवर्सिटी से सामने आई थी, जहां एक छात्रा ने अपने साथ रहने वाली लड़कियों की वीडियो क्लिप रिकॉर्ड करके अपने बॉयफ्रेंड को भेज दी थीं.

छात्राओं के वीडियो लीक होने के बाद देशभर में इसकी चर्चा हो रही है. हालांकि, मामले में पुलिस ने कई आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन कई लोगों के मन में अभी भी इसको लेकर सवाल है कि आखिरकार प्राइवेट वीडियो या MMS Leak कैसे होते हैं, तो चलिए आपको बताते हैं कि MMS कैसे लीक होते हैं और आप इससे कैसे बच सकते हैं.

ऐप्स से होते हैं वीडियो लीक
बता दें कि गूगल पर कई ऐसे ऐप्स होते हैं जिसमें आपको कैशबैक या फिर अन्य ऑफर दिए जाते हैं. अक्सर यूजर्स लालच में आकर इन ऐप्स को अपने फोन में डाउनलोड कर लेते हैं. इतना ही नहीं यूजर्स उन ऐप्स के बारे में पढ़े बिना ही उसको एक्सेस दे देते हैं. इस तरह ऐप्स को आपको फोटो और वीडियो तक एक्सेस मिल जाता है. ऐसे में किसी भी ऐप को गैलरी का एक्सेस देने से पहले आपको सावधानी बरतनी चाहिए.

पुराना फोन बेचने पर लीक हो सकता है डेटा
कई बार हम अपना पुराना फोन किसी को बेच देते हैं . फोन बेचते वक्त हम अपना डेटा डिलीट नहीं करते हैं या फिर फोन को रिसेट नहीं करते हैं, जिससे हमारा सभी डेटा, वीडियो और फोटो फोन खरीदने वाले शख्स के पास चले जाते हैं. ऐसी स्थिति में प्राइवेट वीडियो और फोटो लीक हो सकते हैं.

क्लाउड से लीक हो सकता है डेटा
अक्सर हम अपने डोक्यूमेंट, वीडियो और फोटो जीमेल और ड्रॉपबॉक्स जैसे क्लाउड पर सेव करते हैं. यहां से सबसे अधिक वीडियो लीक होते हैं. साथ ही कई बार हम आसान पासवर्ड रखते हैं ताकि हम उसे आसानी से याद कर सकें, लेकिन इस तरह के पासवर्ड को आसानी हैक किया जा सकता है. कभी कभी हम अपना पासवर्ड किसी और को बता देतें हैं, जिससे हमारा डेटा लीक होना का खतरा बढ़ जाता है.

कैसे पता करें डेटा हो रहा है चोरी
जब कोई शख्स अपके मोबाइल से डेटा चोरी करता है, तो आपके मोबाइल से डेटा जल्दी Exhaust होने लगता है. इसके अलावा आपकी बैटरी तेजी से खत्म होने लगती है. साथ ही आपको फोन भी स्लो हो जाएगा और बार-बार आपका फ्रंट कैमरा अपने आप ऑन होने लगेगा. इसके अलावा कई बार आपका फोन देर से रिस्पॉन्स करने लगता है.

कैसे करें बचाव
गूगल से कोई भी ऐप डाउनलोड करते वक्त उसके बारे में अच्छे से पढ़ लें. साथ ही किसी भी ऐप को गैलरी का एक्सेस देने से पहले सावधानी बरतें. इसके अलावा अपना फोन बेचते समय इस बात का ध्यान रखें कि आप जिस व्यक्ति को फोन बेच रहे हैं उसके पास आपकी फोटोज नहीं जानी चाहिए. इसके लिए सबसे पहले अपना जरूरी डेटा नए फोन में ट्रांसफर कर लें उसके बाद पुराने फोन को रिसेट कर दें. साथ ही जीमेल और ड्रॉपबॉक्स जैसे क्लाउड पर डेटा सेव करने से बचें. इसके अलावा फोन का पासवर्ड भी किसी को नहीं बताना चाहिए.

Share:

Next Post

वो मंदिर जहां पूजा करने से घबराते हैं लोग, हैरान करने वाली है वजह

Tue Sep 20 , 2022
पिथौरागढ़: क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि किसी एक विशाल पत्थर को काटकर, तराशकर रातों-रात कोई एक आदमी उसे खूबसूरत देवालय बना दे? नहीं न. लेकिन देवभूमि उत्तराखंड में ऐसा ही एक अद्भुत शिव मंदिर है, जिसके बारे में कहा जाता है कि उसे एक हाथ वाले शिल्पकार ने रातों-रात तैयार कर दिया था. […]