इंदौर न्यूज़ (Indore News) मध्‍यप्रदेश

इन्दौर : कच्ची चिट्ठी पर प्लाट बेचने वाली 130 कॉलोनियों की सूची तैयार

धड़ल्ले से हो रही थी रजिस्ट्री, रजिस्ट्रार कार्यालय से निकाली विभाग ने जानकारी

इन्दौर। सनावदिया, बिलावली, हातोद, कालीबिल्लौद, सिरपुर, बांक, छोटा बांगड़दा, जामनिया, बिहाडिय़ा, उमरियाखुर्द, सांवेर, सिरपुर, नैनोद सहित शहर के बाहरी इलाकों में तेजी से कॉलोनियां (Colonies) काटी जा रही हैं, लेकिन अनुमति लेने के लिए उतनी तादाद में आवेदन (Application) नहीं आ रहे। रजिस्ट्रार कार्यालय (Registrar’s Office) से जानकारी निकालकर विभाग ने 130 अवैध (Illegal) कॉलोनियों की सूची तैयार की है।


इंदौर की तेजी से बढ़ती जनसंख्या के अनुपात में शहर में कॉलोनी का विकास भी किया जा रहा है। शहर के हर कोने में कॉलोनियां काटी जा रही हैं। सांवेर रोड, खंडवा रोड, तेजाजी नगर, राऊ सहित बायपास के पार ग्रामीण क्षेत्रों तक कॉलोनियों का जंजाल फैल चुका है। कच्ची जमीनों को चि_ियों के माध्यम से बुक किया जा रहा है और उनकी रजिस्ट्री भी धड़ल्ले से करवाई जा रही है। अब इस तरह से धोखाधड़ी करने वालों और गरीब परिवारों को ठगने वालों पर प्रशासन नकेल कसने की तैयारी कर रहा है। 130 कॉलोनियों की सूची तैयार कर ली गई है, जिनमें कच्ची चि_ी पर बेचवाली की गई है। कॉलोनी सेल के अधिकारी प्रदीप सोनी के अनुसार गरीब परिवारों को ठगने और एक ही प्लॉट पर दो-दो नाम से रजिस्ट्री करवाने वालों की भी सूची तैयार की जा रही है। प्रशासन के समक्ष ऐसे कई आवेदक आए हैं, जिन्होंने धोखाधड़ी की शिकायत की है। वहीं सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से भी आवेदन किए गए हैं। इन आवेदनों के माध्यम से फर्जीवाड़ा करने वालों की सूची भी तैयार की जा रही है।

विकास अनुमति नहीं लेने वालों पर भी नकेल
कलेक्टर कार्यालय में कल 20 कॉलोनाइजरों को विकास अनुमति लेने के पहले की जांच करने के लिए बुलाया गया। कॉलोनाइजरों ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि किस तरह से कॉलोनी की प्लानिंग करेंगे, डेवलपमेंट का तरीका क्या होगा। अपर कलेक्टर गौरव बेनल सहित विभागीय अधिकारियों ने 240 कॉलोनियों को नोटिस थमाए थे। उनमें से अब तक सिर्फ 40 कॉलोनियों ने ही विकास अनुमति ली है। बाकी पर अब फिर कार्रवाई का डंडा चलाया जाएगा।

Share:

Next Post

इंदौर में भीख देने पर भी लग सकता है जुर्माना, कब्जा मुक्त होंगी प्रमुख सडक़ें

Sat Jun 22 , 2024
राजवाड़ा से सिटी बसों को बाहर करने की कलेक्टर ने दी चेतावनी बस संचालकों को भी प्राधिकरण के नए नायता मुंडला स्थित बस टर्मिनल पर जाना पड़ेगा इंदौर। शहर को भिखारीमुक्त (beggar free) करने का अभियान लम्बे समय से चल रहा है। मगर अभी तक इसके व्यापक परिणाम नहीं मिल सके हैं। यह भी संभव […]