इंदौर मध्‍यप्रदेश

INDORE : 2 दर्जन से ज्यादा अतिखतरनाक मकान पहले तोड़ेंगे

इन्दौर। नगर निगम (Municipal Corporation) ने पिछले दिनों झोनवार खतरनाक मकानों की सूची तैयार की। चूंकि हाईकोर्ट ने 15 जून तक तोडफ़ोड़ पर रोक लगा रखी थी, जिसके चलते निगम (Municipal ) कार्रवाई शुरू नहीं कर पाया। अब दो दर्जन से ज्यादा अतिखतरनाक श्रेणी के मकानों को पहले तोड़ा जाएगा। हालांकि अभी हाईकोर्ट (High court) ने अगले कुछ दिनों तक तोडफ़ोड़ पर रोक लगाई है, लेकिन खतरनाक श्रेणी के मकानों को निगम (muncipal) तोड़ सकेगा। अभी तो निगम का पूरा अमला वैक्सीनेशन के महाभियान में जुटा है। अलबत्ता कल अवश्य बीआरटीएस पर राजीव गांधी चौराहा से लेकर सडक़ किनारे हो रहे अतिक्रमण को हटाया गया था।


कोरोना संक्रमण के चलते नगर निगम सेनिटाइजेशन और रोजमर्रा की सफाई के साथ-साथ वैक्सीनेशन के महाभियान में भी जुट गया, जिसके चलते रिमूवल की कार्रवाई ठप ही रही। वहीं पिछले दिनों निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने बारिश के पूर्व खतरनाक चिह्नित मकानों को तोडऩे के निर्देश दिए और नगर निगम ने भी झोनवार सूची बना ली। हालांकि पुराने इंदौर में ही सबसे ज्यादा खतरनाक श्रेणी के मकान बचे हैं। इनमें भी जो अतिखतरनाक श्रेणी के हैं उन्हें पहले तोडऩे के निर्देश दिए गए हैं। वहीं नगर निगम ने अभी चोइथराम से तेजपुर गड़बड़ी पुलिया निर्माण में एबी रोड की दोनों तरफ चौड़ाई में आ रहे कच्चे-पक्के मकान, शेड हटाए थे। इस दौरान एक सीएसपी ने इसका विरोध करने वाले को थप्पड़ मारा और निगम अधिकारी ने लात। इसको लेकर विवाद भी हुआ। नगर निगम का कहना है कि पिछले 5 सालों से उक्त स्थान से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाना थी। कई बार नोटिस भी दिए गए, मगर इसके बावजूद अतिक्रमण कायम रखा गया। बीते डेढ़ साल से तो नगर निगम कोरोना के चलते रिमूवल की कार्रवाई भी नहीं कर पा रहा है। बीच-बीच में अवश्य संक्रमण घटने के बाद पुलिस-प्रशासन के सहयोग से मुहिम चलाई जाती है। अभी अतिखतरनाक मकानों की श्रेणी के अलावा सडक़ किनारे हुए अतिक्रमण, अवैध निर्माणों को भी हटाया जाएगा। वहीं जिन निचली बस्तियों में पानी भरता है वहां के बाधक अतिक्रमण और निर्माण भी बाढ़ को रोकने के लिए तोड़े जाएंगे।

Next Post

INDORE : इंतजार, कहीं वैक्सीन तो कहीं मेडिकल स्टाफ को आने में हुई देरी

Mon Jun 21 , 2021
सुबह-सुबह सर्वर कनेक्टिविटी की समस्या…तुरंत होता गया निराकरण… अधिकारी-कर्मचारी अलर्ट इन्दौर। गली-मोहल्लों और शहर में कई स्थानों पर वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं। कर्मचारियों को इन सबकी जानकारी और रिहर्सल 1 दिन पहले ही कराई जा चुकी थी, लेकिन तय समय पर अनेक स्थानों पर मेडिकल स्टाफ और वैक्सीन नहीं पहुंच पाई। हालांकि प्रशासन की […]