विदेश

लॉरेंस वोंग बने सिंगापुर के नए प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति थर्मन ने दिलाई पद की शपथ


सिंगापुर . अर्थशास्त्री (economist) लॉरेंस वोंग (Lawrence Wong ) ने सिंगापुर (Singapore) के चौथे प्रधानमंत्री (Prime Minister) के रूप में शपथ ली. बता दें कि 51 साल के वोंग 72 साल के ली सीन लूंग (Lee Hsien Loong) की जगह लेंगे. 67 वर्षीय राष्ट्रपति थर्मन शनमुगरत्नम (Tharman Shanmugaratnam) ने वोंग को शपथ दिलाई. ली सीन लूंग 2 दशक तक सिंगापुर के प्रधानमंत्री के पद पर रहे. वोंग और ली सीन लूंग दोनों नेता सत्तारूढ़ पीपुल्स एक्शन पार्टी के हैं. जो पिछले 5 दशक से अधिक समय से सिंगापुर का नेतृत्व कर रही है.


प्रधानमंत्री का पद संभालने से पहल वोंग देश के डिप्टी पीएम के पद पर थे. लेकिन अब वह पीएम और वित्त मंत्री के रूप में सरकार का नेतृत्व करेंगे. वोंग ने मंत्री स्तर पर बड़े बदलाव नहीं करने के कारण कई तरह के व्यवधानों का हवाला दिया था. साथ ही कहा था कि इसने बचने की जरूरत है.

चैनल न्यूज एशिया की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ली ह्सियन लूंग की सरकार से वोंग की सरकार में नेतृत्व परिवर्तन के दौरान सभी मंत्रियों के पास अपने पोर्टफोलियो बने रहने से वोंग के निर्णय लेने में निरंतरता बनी रहेगी. बता दें कि अप्रैल 2022 में वोंग को नामित किया गया था, और उसी वर्ष जून में उप प्रधानमंत्री के रूप में पदोन्नत किया गया था. हालांकि ली कैबिनेट में वरिष्ठ मंत्री के रूप में बने रहेंगे. जैसा कि पहले भी दो पूर्व प्रधानमंत्रियों ली कुआन यू और गोह चोक टोंग के मामले में हो चुका है.

राष्ट्रपति थर्मन ने कहा कि उन्हें वोंग की नेतृत्व क्षमता पर पूरा भरोसा है, क्योंकि सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अज्ञात क्षेत्रों में प्रवेश कर रहा है. देश की आर्थिक और सामाजिक नीतियों को आकार देने में वोंग की महत्वपूर्ण भूमिका है. आम सहमति बनाने और देश के लिए आगे बढ़ने का सबसे अच्छा रास्ता खोजने के लिए उनका अपना दृष्टिकोण होगा और इसमें कोई संदेह नहीं है कि वह अपनी लय और ताल के साथ ऐसा करेंगे. बता दें कि वोंग की शादी लू त्ज़े लुई से हुई थी. राजनीति में एंट्री से पहले वोंग 14 वर्षों तक एक सिविल सेवक थे.

इस सप्ताह की शुरुआत में वोंग ने कहा था कि निरंतरता और स्थिरता (कैबिनेट के लिए) प्रमुख विचार हैं, खासकर तब, जब हम सरकार के इस कार्यकाल के अंत के करीब पहुंच रहे हैं. वोंग ने कहा कि मेरी प्राथमिकता है सिंगापुर और सिंगापुरवासियों की सेवा के लिए सर्वोत्तम टीम बनाना

Share:

Next Post

आरक्षण की 50% सीमा का उपयोग नहीं हुआ, NCBC का सुझाव कहा- बंगाल और पंजाब में OBC का कोटा बढ़ाएं

Thu May 16 , 2024
नई दिल्‍ली (New Delhi)। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections)की सरगर्मी के ठीक बीच राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग (National Backward Classes Commission)(एनसीबीसी) ने बुधवार को पश्चिम बंगाल (West Bengal)और पंजाब(Punjab) की सरकारों से अन्य पिछड़े वर्ग (backward class) के लिए कोटा बढ़ाने का सुझाव (Suggestion to increase quota)दिया है। एनबीसी ने कहा है कि दोनों ही […]