उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

राम मंदिर उद्घाटन में मेहमानों की लंबी लिस्ट, रजनीकांत से लेकर गौतम अडानी; इसरो को भी न्यौता

नई दिल्‍ली (New Dehli) । 22 जनवरी को अयोध्या (Ayodhya)में होने वाले राम मंदिर की “प्राण प्रतिष्ठा” (“Dignity of life”)के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust)की तैयारियां अंतिम रूप ले रही हैं। ट्रस्ट ने निर्णय (Decision)लिया है कि आयोजन इतना भव्य होना चाहिए जो सालों तक याद रहे। इसलिए ट्रस्ट ने न सिर्फ देश भर से संतों, पुजारियों और धार्मिक नेताओं को बल्कि पूर्व और वर्तमान प्रशासनिक अधिकारियों और पत्रकारों को भी आमंत्रित करने का फैसला लिया है, जो 1992 के आसपास अयोध्या क्षेत्र में तैनात थे। मेहमानों की लंबी लिस्ट तैयार की है, जिसमें बड़े-बड़े उद्योगपतियों, वैज्ञानिकों, अभिनेताओं और सेना के अधिकारियों से लेकर पद्म पुरस्कारों से सम्मानित लोग भी शामिल होंगे।


सोमवार को अयोध्या में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने प्राण प्रतिष्ठा के लिए अतिथियों की सूची से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि लिस्ट को बेहद सावधानी से तैयार किया गया है। इसमें उद्योगपतियों, वैज्ञानिकों, अभिनेताओं, सेना अधिकारियों से लेकर पद्म श्री और पद्म भूषण पुरस्कार विजेताओं तक शामिल हैं। अतिथि सूची में तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा, बाबा रामदेव, उद्योगपति अडानी समूह के गौतम अडानी, रिलायंस के मुकेश अंबानी, टाटा समूह के नटराजन चंद्रशेखरन, एल एंड टी समूह के एस एन सुब्रमण्यन, रजनीकांत और माधुरी दीक्षित समेत कई लोगों के नाम हैं।

‘भगवान राम’ भी पहुंचेंगे
चंपत राय ने बताया कि मेहमानों में अरुण गोविल का नाम भी शामिल है। जिन्होंने रामानंद सागर की रामायण में भगवान राम का किरदार निभाया था। इसके अलावा महाभारत में भगवान कृष्ण का रोल करने वाले कृष्ण भारद्वाज को भी निमंत्रण भेजा गया है। फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर और गीतकार प्रसून जोशी सहित अन्य कई फिल्मी हस्तियों को भी न्यौता दिया गया है।

अलग-अलग परंपराओं वाले 4000 संतों को भी न्यौता
राय ने कहा, “देश भर के हर राज्य से अलग-अलग परंपराओं का प्रतिनिधित्व करने वाले चार हजार संतों को आमंत्रित किया गया है। इसमें अरुणाचल प्रदेश से लेकर त्रिपुरा, मिजोरम, मेघालय, सिक्किम, अंडमान निकोबार, झारखंड, छत्तीसगढ़ राज्य शामिल हैं। वहीं, 125 अलग-अलग संप्रदायों के धार्मिक नेताओं, 13 अखाड़ों के महंतों, छह दर्शनों के आचार्यों, शंकराचार्यों से लेकर बाबा रामदेव और केरल की अम्मा मां अमृतानंदमयी से लेकर दलाई लामा और मुंबई के राहुल बोधी तक को आमंत्रित किया गया है।”

इसरो को भी न्यौता
अतिथि सूची में अहमदाबाद स्थित सरो स्पेस एप्लिकेश सेंटर के डायरेक्टर नीलेश एम. देसाई, सीबीआरआई वैज्ञानिक देबी दत्ता भी शामिल हैं। चंपत राय ने कहा कि अतिथियों की सूची काफी विचार-विमर्श के बाद तैयार की गई है। राय ने कहा कि खेल जगत की हस्तियों, वैज्ञानिकों, मीडिया घरानों और अनुभवी पत्रकारों, जो 1984 से 1992 के बीच सक्रिय थे, सभी को आमंत्रित किया गया है।

1992 के वक्त सरकारी अधिकारियों को भी बुलावा
राय ने कहा, ”तत्कालीन डीआइजी” सहित 1992 में अयोध्या में तैनात यूपी पुलिस के सेवानिवृत्त अधिकारियों को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के लिए अतिथि के रूप में आमंत्रित किया जाएगा।” उन्होंने कहा कि आरएसएस के केवल 25 पदाधिकारियों और विश्व हिंदू परिषद के 100 लोगों को आमंत्रित किया गया है। निर्माण कार्य में लगे 10-15 फीसदी कामगारों को भी निमंत्रण दिया जायेगा।

कार्यक्रम में क्या-क्या
राय के अनुसार, प्राण प्रतिष्ठा के लिए पूजा 16 जनवरी से शुरू होगी और वास्तविक “मुहूर्त” 22 जनवरी को दोपहर 12 बजे के आसपास होगा, जब प्राण प्रतिष्ठा समारोह किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूजा अगले 48 दिनों तक जारी रहेगी।

उन्होंने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए कारसेवकपुरम में 1,000 लोगों के लिए आवास की व्यवस्था की गई है, जबकि अन्य 850 लोगों के लिए नृत्य गोपाल दास के योग और प्राकृतिक केंद्र में आवास की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा, अयोध्या के निवासी, मंदिर और आश्रम आने वाले मेहमानों को रहने में मदद करेंगे।

Share:

Next Post

कांग्रेस की बैठक में अखिलेश का राग, राज्य में सपा के साथ गठबंधन फायदेमंद; जाति जनगणना 'सही एजेंडा 'बताया

Tue Dec 19 , 2023
नई दिल्‍ली (New Dehli) । आगामी लोकसभा चुनावों (Lok Sabha elections)में उत्तर प्रदेश में किस दल के साथ गठबंधन (alliance)हो, इस पर कांग्रेस नेताओं ने INDIA गठबंधन (INDIA ALLIANCE)की बैठक से पहले सोमवार को पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी के साथ बैठक में खूब माथापच्ची की। पार्टी के राज्य प्रतिनिधिमंडल के अधिकांश नेताओं […]