देश

एक दुल्हन और दो दूल्हे : फिर इस तरकीब से दोनों को मिल गईं जीवन संगिनी, जानिए कैसे

कन्नौज। कन्नौज जिले में तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में अजीबोगरीब मामला सामने आया है। दुल्हन एक थी और उससे ब्याह रचाने के लिए दो दूल्हे पहुंच गए। एक तय बरात के साथ आया था तो दूसरा प्रेमी खुद बरात लेकर पहुंच गया। दो-दो बरात देख लोग अचंभित रह गए। मामला पुलिस तक पहुंचा।

घंटों चली पंचायत के बाद दुल्हन ने प्रेमी का चयन किया। इधर, तय बरात के साथ पहुंचे दूल्हे को मायूस देख गांव के ही एक परिवार ने अपनी बेटी से शादी कराई। कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार रात सौरिख थाना क्षेत्र से दूल्हा बरात लेकर पहुंचा। दरवाजे पर बरात पहुंचते ही जनातियों ने उनकी खातिरदारी की। सभी कार्यक्रम हो जाने के बाद जब द्वार चार कार्यक्रम होने लगा उसी दौरान दुल्हन का प्रेमी छिबरामऊ थाना क्षेत्र से बरात लेकर आ पहुंचा। प्रेमी को देख दुल्हन खुशी से झूम गई।

उसने आए दूल्हे से शादी से इंकार कर दिया। सभी कार्यक्रम होने के बाद शादी से इनकार की जानकारी लगते ही बरातियों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रेमी व दुल्हन को हिरासत में ले लिया। दोनों पक्षों के बीच बातचीत होने लगी। इतने में प्रेमी की फर्रुखाबाद से शादी तय थी वहां 23 जून को बरात जानी निर्धारित थी। वह लोग भी कोतवाली आकर प्रेमी के शादी करने का विरोध करने लगे। तीनो पक्षों में चली घंटो पंचायत के बाद किशोरी के परिजनों ने दूल्हे का सामान वापस कर दिया। दूल्हे ने तिलक में ली बाइक भी वापस कर दी।

उधर, प्रेमी की रूकाई में फर्रुखाबाद वालों की दी धनराशि को प्रेमी ने वापस कर एक दूसरे से समझौता कर लिया। तीनों पक्षों ने अपना-अपना समझौता लिखकर पुलिस को सौंपा। सीओ दीपक दुबे ने बताया कि कोतवाल शैलेंद्र कुमार ने सभी से समझौता पत्र लिया। इसके बाद दुल्हन की शादी उसके प्रेमी के साथ हुई। बरात लेकर आया दूल्हा शादी न होने पर मायूस था। इसी बीच गांव के ही एक परिवार ने पहल की और अपनी बेटी की शादी की बात रख दी। दूल्हा तुरंत राजी हो गया। इसके बाद रात में दोनों की शादी कराई गई।

Next Post

हवाएं सुधरी इंदौर की, 254 के स्तर पर पहुंच चुका प्रदूषण 58 पर आया

Sat May 15 , 2021
सन्नाटे भरे शहर में हवाओं ने ली सांसें… इंदौर।  कोरोना काल (Corona period) में शहर के कंपकंपाते हालात जहां दर्द… पीड़ा और मौतों से आहत किए बैठे हैं, वहीं राहत की खबर यह है कि शहर में जानलेवा स्तर तक पहुंच चुका प्रदूषण का स्तर मात्र 20 प्रतिशत पर रह गया है। सन्नाटे से भरे […]