इंदौर न्यूज़ (Indore News)

ग्रामीण क्षेत्रों ने मतदान में शहरी क्षेत्रों को पछाड़ा

इन्दौर। इंदौर (Indore) की 9 विधानसभाओं में कल हुए मतदान प्रक्रिया के बाद एक बार फिर ग्रामीण क्षेत्र ने शहरी क्षेत्र को फिर से पछाड़ दिया है। 2018 के चुनाव आंकड़ों में भी शहरी क्षेत्र पिछड़ा था। इंदौर जिले में 100 से अधिक मतदान केन्द्रों (polling stations) पर जहां 90 प्रतिशत मतदान हुआ, वहीं कई केन्द्रों पर आंकड़ा 41 प्रतिशत से आगे नहीं बढ़ सका।


100 से अधिक मतदान केन्द्रों पर 90 प्रतिशत से अधिक मतदान कर देपालपुर (Depalpur) विधानसभा अव्वल नंबर पर है। यहां सबसे ज्यादा मतदाता मतदान केन्द्रों तक पहुंंचे हैं। शहरी क्षेत्र के मतदाता की तुलना में ग्रामीणों ने साबित कर दिया है कि वो ज्यादा सजग और अपडेट हैं। वरिष्ठ चुनाव अधिकारियों के अनुसार इंदौर जिले में 73.79 प्रतिशत मतदान हुआ है, जो 2018 के विधानसभा के चुनाव में 71.45 प्रतिशत से लगभग दो प्रतिशत ज्यादा है। जिले के सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों के 2561 बूथों की कल समीक्षा कर रिपोर्ट तैयार की गई, जिसमें देपालपुर सबसे अधिक मतदान वाला क्षेत्र है। यहां एक मतदान केंद्र पर 98 प्रतिशत मतदाताओं के मतदान की रिपोर्ट सामने आई है, जबकि देपालपुर निर्वाचन क्षेत्र के एक बूथ पर न्यूनतम मतदाताओं का मतदान 54 प्रतिशत दर्ज किया गया।

सांवेर में 90 से 56 प्रतिशत
सांवेर और महू निर्वाचन क्षेत्र में क्रमश: 19 और 22 मतदान केंद्रों पर 90 प्रतिशत और उससे अधिक मतदाताओं ने मतदान किया। जहां सांवेर सीट के एक बूथ पर न्यूनतम मतदाताओं का मतदान 45 प्रतिशत दर्ज किया गया, वहीं महू के एक मतदान केंद्र पर यह 51 प्रतिशत था। राऊ की शहरी ग्रामीण सीट के मतदान केंद्र पर अधिकतम और न्यूनतम मतदाताओं का मतदान क्रमश: 96 प्रतिशत और 56 प्रतिशत दर्ज किया गया।

100 प्रतिशत मतदान की जांच
राऊ मतदान केंद्र के एक बूथ पर 99 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया, लेकिन रिटर्निंग अधिकारी राकेश परमार ने इसे एक त्रुटि बताते हुए जांच की बात कही है। इसी तरह, इंदौर-1 सीट के एक मतदान केंद्र पर भी 100 प्रतिशत मतदान हुआ, लेकिन किसी भी अधिकारी ने रिकॉर्ड की जांच के बिना इसकी पुष्टि नहीं की है। मतदान दलों ने ईवीएम जमा करने के साथ अपनी रिपोर्ट भी सौंप दी है। उसी के आधार पर रिपोर्ट तैयार की गई है। हालांकि इसमें कुछ टाइपिगं गलतियां या अन्य त्रुटियां सामने आ सकती हैं। इसलिए अधिकारी अभी समीक्षा के बाद जानकारी देने की बात कह रहे हैं।

यह है शहरी क्षेत्रों का आंकड़ा
पांच शहरी सीटों में से केवल इंदौर-1 और इंदौर-3 विधानसभा क्षेत्रों में तीन मतदान केंद्रों पर 90 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने मतदान किया, जबकि एक मतदान केंद्र पर न्यूनतम मतदान क्रमश: 47 प्रतिशत और 41 प्रतिशत दर्ज किया गया। शेष सीटों पर अधिकतम और न्यूनतम मतदान इंदौर-2 (85 और 43 प्रतिशत ), इंदौर-4 (86 और 57 प्रतिशत ) और इंदौर-5 (85 और 46 प्रतिशत ) दर्ज किया गया। कलेक्टर के अनुसार सबसे अधिक और सबसे कम मतदान वाले केन्द्रों की समीक्षा की जा रही है।

Share:

Next Post

जयपुर और जबलपुर की उड़ानें निरस्त, यात्रियों का हंगामा, यात्री परेशान

Sun Nov 19 , 2023
आए दिन की झंझट…विमान यात्राएं हुई अविश्वसनीय इन्दौर। देश की प्रमुख निजी एयर लाइंस इंडिगो (private airlines indigo) पिछले कुछ दिनों से इंदौर से लगातार अपनी उड़ानों को निरस्त कर रही है। कल भी कंपनी ने इंदौर से जुड़ी तीन उड़ानों को निरस्त कर दिया। इनमें जयपुर (Jaipur) और जबलपुर (Jabalpur) की उड़ानें शामिल हैं। […]