उत्तर प्रदेश देश राजनीति

स्‍वामी स्वामी प्रसाद मौर्य का बड़बोलापन बढ़ा सकता है अखिलेश यादव की मुश्किलें

लखनऊ (Lucknow)। सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या (SP leader Swami Prasad Maurya) द्वारा राम चरित मानस पर की गई टिप्पणी (Comment) को लेकर हिंदू संगठनों (Hindu organizations) में आक्रोश है। एक तरफ जहां हिंदू संगठनों (Hindu organizations) ने इसकी कड़ी निंदा की है तो दूसरी ओर भाजपा भी सपा पर हमलावर होती नजर आ रही है।

आपको बता दें कि भाजपा से सपा में गए नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने हाल ही में एक चैनल के इंटरव्यू के दौरान रामचरितमानस पर टिप्पणी करते हुए बैन करने की मांग की थी। जिस पर हिंदू संगठनों में आक्रोश व्याप्त है, हालांकि उनके खिलाफ थाने में शिकायत तक दर्ज हो गई इसके बाद भी देश के अलग-अलग हिस्‍सों में सपा के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है, अब माना जा रहा है कि स्वामी प्रसाद मौर्या की बयान को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव की भी मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं, क्‍योंकि उनकी ही पार्टी के कई नेताओं ने स्‍वामी के बयान से किनारा कर लिया है। जिससे अखिलेश की बोलती बंद हो गई है।


दूसरी ओर इस संबंध में तुलसीपुर के विधायक कैलाश नाथ शुक्ला ने भी सपा नेता की बुद्धि भ्रष्ट और खराब दिन आने की बात कही है। कैलाश नाथ शुक्ला ने सोमवार को कहा कि सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या का दुर्भाग्य है कि रामचरितमानस पर प्रतिकूल टिप्पणी की है। उनके दुर्दिन के समय आ गए हैं इसलिए इस तरह की टिप्पणी कर रहे हैं। विनाश काले विपरीत बुद्धि और उनकी बुद्धि भ्रष्ट हो गई है। भगवान प्रभु श्रीराम से उनके सद्बुद्धि के लिए प्रार्थना करता हूं। विधायक ने कहा कि रामचरितमनस एक प्रेरणादायक ग्रंथ है, जो समाज के सभी वर्गों के लिए हितकारी है। सभी वर्गों में भाईचारा प्रेम सौहार्द बढ़ाने वाला है।

स्वामी प्रसाद मौर्या पर आक्रोश व्यक्त करते हुए विश्व हिंदू महासंघ के सोशल मीडिया प्रदेश उपाध्यक्ष गंगा शर्मा ने कहा कि रामचरितमानस जीवन जीने की सीख देती है जीवन का आदर्श सिखाती है। रामचरितमानस पर स्वामी प्रसाद के द्वारा दी गई टिप्पणी की जितनी निंदा की जाए कम है। विजय सिंह ने कहा कि विश्व हिंदू महासंघ स्वामी प्रसाद मौर्या के बयान की कड़ी से कड़ी निंदा करता है।

उल्लेखनीय है कि सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने रविवार को एक चैनल के इंटरव्यू के दौरान रामचरितमानस पर टिप्पणी करते हुए बैन करने की मांग की थी। जिस पर हिंदू संगठनों में आक्रोश व्याप्त है।

Share:

Next Post

Russia-Ukraine War : रूस का दावा, परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में हथियार जमा कर रही यूक्रेनी सेना

Tue Jan 24 , 2023
मॉस्को (moscow)। रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन की सेना परमाणु ऊर्जा संयंत्रों (Military nuclear power plants of Ukraine) में पश्चिमी देशों अमेरिका (western countries america) आदि द्वारा प्रदान की गई मिसाइलों और गोला-बारूद का भंडारण (Missiles and Ammunition Storage) कर रही है। जिससे यह लगता है कि अब यह युद्ध कम होने की […]