इंदौर न्यूज़ (Indore News)

कल सुबह से झोनलों पर लगेंगे टेंट, लगेगी लोक अदालत

  • बड़े बकायादारों पर निगम टीम का रहेगा टारगेट, सूचना पत्र जारी किए

इंदौर (Indore)। कल लोक अदालत के चलते निगम के सभी 19 झोनल कार्यालयों से लेकर मुख्यालय पर विशेष व्यवस्था की जाएगी, ताकि कर जमा करने आने वाले लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। सुबह से लेकर देर रात तक राशि जमा हो सकेगी। कई बड़े बकायादारों से राजस्व विभाग के अधिकारियों ने संपर्क कर छूट का लाभ लेने को कहा है और सूचना पत्र भी भेजे हैं। अधिकारियों के मुताबिक जलकर और संपत्ति कर में अलग-अलग बकाया राशि पर छूट मिलेगी, वहीं लोक अदालत में कचरा प्रबंधन शुल्क भी जमा कराया जा सकेगा। राजस्व समिति प्रभारी निरंजनसिंह चौहान ने बताया कि सभी 19 झोनलों पर सुबह से टेंट लगाने के साथ-साथ कुर्सी-टेबलें लगाई जाएंगी, ताकि करदाताओं को परेशानी न आए। हर झोन पर राजस्व का अतिरिक्त स्टाफ तैनात किया जाएगा। कल लोक अदालत से निगम को 50 करोड़ से ज्यादा की राशि मिलने की उम्मीद है और शासकीय विभागों पर भी बकाया राशि के मामले में वहां के आला अधिकारियों से चर्चा की जा रही है।


नेशनल लोक अदालत में कुल 53 खंडपीठ गठित
कल नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया रहा है। जिला कोर्ट में इसके लिए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश बीपी शर्मा के निर्देशन में 53 खंडपीठों का गठन किया गया है, जिनमें जजों के साथ वकीलों को भी सदस्य के रूप में रखा गया है। इसी तरह हाईकोर्ट में प्रशासनिक न्यायाधिपति एसए धर्माधिकारी के निर्देशन में लोक अदालत आयोजित की जा रही है। प्रिंसिपल रजिस्ट्रार अजयप्रकाश मिश्र ने बताया कि समस्त पक्षकारों एवं अधिवक्तागण से अनुरोध किया गया है कि लंबित प्रकरणों को नेशनल लोक अदालत के माध्यम से सुलह एवं समझौते के आधार पर निराकृत कराएं। लोक अदालत के माध्यम से प्रकरण का निराकरण होने पर शासन द्वारा अदा की गई कोर्ट फीस वापसी का भी प्रावधान है।

Share:

Next Post

पेमेंट के पते नहीं, 10 करोड़ की सडक़ के टेंडर जारी

Fri Dec 8 , 2023
इंदौर।  नगर निगम  (Municipal Corporation) में चर्चित ठेकेदार पप्पू भाटिया की आत्महत्या (Suicide) के मामले को लेकर गहमागहमी बनी हुई है और रुके हुए पेमेंट को लेकर ठेकेदारों ने काम करने से इनकार तक कर दिया। इसी बीच आचार संहिता के बाद निगम ने लक्ष्मी मेमोरियल (Lakshmi Memorial) से अटल द्वार (Atal Dwar) तक साढ़े […]