इंदौर

मुक्तिधामों में अस्थियों का अंबार

 

 

अब निगम सामाजिक संस्थाओं की मदद से नर्मदा में विसर्जित करेगा
इंदौर।  मुक्तिधामों मेंं अस्थियां बदहाल हालत में पड़ी थी और जब मामले की शिकायत हुई तो निगम कर्मचारियों को फटकार लगाई गई, जिसके चलते अब अस्थियों को सुरक्षित स्थानों पर रखा गया है, वहीं दूसरी और निगम शहर की सामाजिक संस्थाओं (social institutions) की मदद से अस्थियों (ashes) का नर्मदा ( Narmada)  में विसर्जन की तैयारी में जुटा है और इसी सप्ताह से यह काम शुरू किए जाने की तैयारी चल रही है।

पिछले दिनों कोरोना संक्रमण (corona infection) के चलते बड़े पैमाने पर लोगों की मौत हो गई थी और शहर के मुक्तिधामों पर अंतिम संस्कार के लिए लोगों को इंतजार करना पड़ रहा था। निगम अधिकारियों के मुताबिक अब यह स्थिति नहीं है, लेकिन फिर भी मुक्तिधामों पर पर्याप्त प्रबंध के लिए कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं और अधिकारियों की टीम वहां लगातार मानिटरिंग कर स्थिति देख रही है। अधिकारियों के मुताबिक एक दर्जन से अधिक मुक्तिधामों पर पिछले दिनों हुए अंतिम संस्कार (funeral) के बाद अस्थियां इकट्ठा हो गई थी, जो यहां-वहां लापरवाह और बदहाल हालत में पड़ी थी। इस बारे में जब शिकायत मिली तो अधिकारियों ने कर्मचारियों को फटकार लगाकर अस्थियों को सुरक्षित स्थानों पर रखवाया। कई लोगों के परिजन अंतिम संस्कार (funeral) के बाद अस्थियां लेने ही नहीं पहुंचे, जिसके कारण यह स्थितियां बनी है। अब नगर निगम (municipal Corporation) शहर की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों से चर्चा कर रहा है और उनकी मदद से ऐसी अस्थियों का विसर्जन नर्मदा में किया जाएगा।

विधि-विधान से विसर्जित करेंगे
सामाजिक संस्थाओं की मदद से इसी सप्ताह से अस्थियों का विसर्जन शुरू कराने की तैयारी है, इसके लिए पंडितों के माध्यम से विधि-विधान से अस्थियों का पूजन कराने के साथ परंपरानुसार उनका विसर्जन कराया जाएगा, ताकि इस कार्य में किसी प्रकार की गलती न हो। संस्था के पदाधिकारियों को निगम ने वाहन भी उपलब्ध कराने पर सहमति दे दी है।

Share:

Next Post

Thailand : बौद्ध भिक्षु ने अपना सिर काटकर भगवान Buddha को चढ़ा दिया, ये है वजह

Thu Apr 22 , 2021
  बैंकॉक। थाईलैंड (Thailand) के बैंकॉक से अजोबीगरीब मामला सामने आया है। दरअसल यहां एक बौद्ध भिक्षु ने भगवान बुद्ध के सामने अपनी गर्दन काटकर (Buddhist Monk Chops Off His Head) चढ़ा दी। बताया जा रहा है कि उसने ऐसा बड़ा आध्यात्मिक संत बनने के लिए किया। बीते 5 साल से देना चाहते थे अपनी […]