देश मध्‍यप्रदेश

जिस गांव में PM मोदी ने सभा की वहां के पदाधिकारियों ने भाजपा से दिया इस्तीफा, इस समस्या से हैं परेशान

दमोह। दमोह (Damoh) के इमलाई गांव में कल 19 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की सभा (Meeting) हुई, आज शनिवार को वहां के भाजपा पदाधिकारियों (BJP Officials) ने अपने पद से इस्तीफा (Resigned) दे दिया है। जिसकी वजह गांव (Village) में पानी समस्या और ग्रामीणों को पीएम आवास योजना का लाभ नहीं मिलना है। इससे नाराज दर्जनों कार्यकर्ताओं और नेताओं ने भाजपा कार्यालय पहुंचकर जिला अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारियों की अनुपस्थिति में दीवार पर अपना इस्तीफा चिपका दिया है।

गांव में पानी की समस्या
इमलाई गांव में पानी की भीषण समस्या बनी हुई है। लोग भीषण गर्मी में बूंद बूंद पानी के लिए परेशान हैं। पानी की मांग को लेकर वे कई बार कलेक्टर और स्थानीय विधायक जयंत कुमार मलैया को ज्ञापन दे चुके हैं। लेकिन, उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ। ग्रामीणों का कहना है कि इस संबंध में जयंत मलैया और कलेक्टर भी नगर पालिका को स्पष्ट निर्देश दे चुके हैं कि ग्राम इमलाई में पानी की समस्या हल की जाए, लेकिन नगर पालिका के मनमाने रवैया के कारण वहां पर पानी नहीं पहुंच रहा है।


भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम लोधी के नाम सौपें गए सामूहिक त्यागपत्र में इस बात का उल्लेख किया गया है कि वह लोग भाजपा का साथ छोड़ रहे हैं। इस चुनाव में भाजपा उनसे किसी प्रकार के सहयोग की अपेक्षा न रखे। सामूहिक रूप से दिए गए इस्तीफे में लिखा है कि ग्राम इमलाई में बूथ क्रमांक 32, 33 और 34 स्थित है। इन सभी बूथों के सक्रिय कार्यकर्ता और बूथ प्रभारी, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और अन्य पदाधिकारी लंबे समय से भाजपा से जुड़े हुए हैं। प्रत्येक चुनाव में सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने पूरी ईमानदारी के साथ काम कर भाजपा को विजय दिलाई है। इसके बाद भी यहां की समस्याओं का निराकरण करने में कोई रुचि नहीं ली गई। पेयजल समस्या के साथ लोगों को पीएम आवास का लाभ भी नहीं मिला, जबकि प्रदेश में भाजपा की सरकार है। इसलिए, हम सभी पदाधिकारी सामूहिक रूप से भाजपा से इस्तीफा दे रहे हैं।

इन्होंने दिया इस्तीफा
ग्राम पंचायत इमलाई के उप सरपंच और शक्ति केंद्र के संयोजक रमेश श्रीवास्तव, भरत अहिरवार, रविंद्र अहिरवार, धर्मेंद्र पटेल, अजय पटेल, तरुण पटेल, सलमान खान, शिवचरण पटेल, याकूब खान, अलीमुद्दीन खान, किशन पटेल, बृजेंद्र पटेल, लालमन परस्ते, बाबूलाल पटेल, राजा पटेल, विनोद पटेल, रुस्तम खान समेत दर्जनों लोगों ने त्यागपत्र दे दिया है।

बता दें 19 अप्रैल शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी इमलाई गांव में सभा करने आए थे। उस समय इन लोगों ने पानी की समस्या को लेकर विरोध प्रदर्शन करने का मन बना लिया था, लेकिन जब इसकी भनक भाजपा नेताओं और प्रशासन को लगी तो उन्होंने इन सभी नेताओं और ग्रामीणों को विरोध करने से रोक दिया और पानी की व्यवस्था करते हुए नल लगवाए थे। लेकिन, शनिवार को फिर पानी की समस्या होने लगी। जिससे नाराज होकर इन सभी ने पार्टी का साथ छोड़ दिया है। इस संबंध में जब भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी से संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई।

Share:

Next Post

भारत की अध्यक्षता में हुए जी20 सम्मेलन की IMF ने की तारीफ, विश्व बैंक ने भी सराहा

Sat Apr 20 , 2024
वॉशिंगटन। अमेरिका में आईएमएफ और विश्व बैंक की वार्षिक बसंत बैठक चल रही है। इस बैठक में शामिल होने के लिए भारत की तरफ से आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ भी अमेरिका दौरे पर हैं। अजय सेठ ने बताया कि इस बैठक के दौरान आईएमएफ और विश्व बैंक ने भारत की अध्यक्षता में हुए […]