इंदौर क्राइम

राजस्थान का तस्कर बोला, इंदौर से 20-25 लोग बॉर्डर पर आते हैं ब्राउन शुगर लेने

चलती अपाची गाड़ी में एक हाथ पैसे लेकर दूसरे हाथ डिलीवरी, रैकी कर चार रास्ते वाले स्थान पर बुलाते हैं

इंदौर। क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने राजस्थान (Rajsthan) के एक तस्कर और उसके इंदौर (Indore) के चार साथियों को गिरफ्तार कर लाखों की ब्राउन शुगर जब्त की थी। पूछताछ में तस्कर बोला कि हमारा गांव बॉर्डर पर है। वहां इंदौर से 20 से 25 लोग ब्राउन शुगर की डिलीवरी लेने आते हैं। उनको हम चलती गाड़ी में ही एक हाथ पैसे लेकर दूसरे हाथ ब्राउन शुगर देते हैं। पहले रैकी करते हैं और ऐसे स्थान पर बुलाते हैं, जहां चार रास्ते हों, ताकि गड़बड़ होने पर पुलिस से बचकर भाग सकें।

बताते हैं कि एक तस्कर पुलिस को चकमा देकर ऐसे ही भाग गया। दो दिन पहले क्राइम ब्रांच और बाणगंगा पुलिस ने एक राजस्थान के कोटड़ी गांव के तस्कर सोहेल खान और उसके इंदौर के चार साथियों को गिरफ्तार कर 180 ग्राम ब्राउन शुगर जब्त की थी। आरोपी ने बताया कि कोटड़ी से मप्र बॉर्डर मात्र चार किमी दूर है। यहां इंदौर के अलावा कई शहरों से लोग ब्राउन शुगर लेते आते हैं। यहां कई तस्कर सक्रिय हैं। ये लोग अपाची गाड़ी का उपयोग करते हैं। पुलिस की नजर होने से चलती गाड़ी में ही लेन-देन होता है। फोन पर ऑर्डर लेते हैं, फिर रैकी कर एक ऐसे स्थान पर बुलाते हैं, जहां से भागने के कई रास्ते हों। बताते हैं कि क्राइम ब्रांच की टीम सोहेल के एक साथी शोएब को पकडऩे पहुंची थी, लेकिन वह अपाची गाड़ी से भाग गया था। पुलिस उनके इंदौर के संपर्क का पता लगा रही है।

तीन तरह की ब्राउन शुगर देते हैं

तस्कर ने बताया कि बॉर्डर पर तीन तरह की ब्राउन शुगर देते हैं। एक में ब्राउन शुगर के साथ चरस, एक पचास पॉवर और एक कुछ केमिकल के साथ बनी हुई होती है। सभी का रेट अलग होता है। पहले से यह तय होने के बाद ही डिलीवरी के लिए बुलाते हैं। बहुत कम बार वे खुद डिलीवरी देने किसी शहर जाते हैं। इस बार वह डिलीवरी देने आया और पकड़ा गया।

Share:

Next Post

कंगाल पाकिस्तान, कागज की तंगी, नहीं छपी स्कूली किताबें

Fri Jun 24 , 2022
इस्लामाबाद। आर्थिक संकट का सामना कर रहे पाकिस्तान के लिए अब नई मुसीबत सामने आ गई है। पाकिस्तान में अब कागज की तंगी आ गई है। इसी बीच पाकिस्तान के पेपर एसोसिएशन ने चेतावनी दी है कि देश में कागज के संकट के चलते अगस्त 2022 से शुरू होने वाले नए एकेडमिक सेशन में बच्चों […]