जीवनशैली

कब है फादर्स डे? जानिए पहली बार किसने और क्यों मनाया था पिता को समर्पित ये दिन


फादर्स डे (Father’s Day) पिता को समर्पित खास दिन है। इसे पिता के सम्मान और प्यार (Respect and love) के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। इस दिन का इतिहास (History) 20वीं सदी की शुरुआत से जुड़ा हुआ है और मुख्यत: संयुक्त राज्य अमेरिका (US) से उत्पन्न हुआ। पहली बार एक बेटी ने अपने पिता के सम्मान में फादर्स डे मनाया था। इस लेख में जानिए फादर्स को मनाने की जरूरत क्यों महसूस हुई और इस दिन को मनाने का इतिहास व महत्व ।


फादर्स डे का इतिहास

फादर्स डे मनाने का सबसे पहला प्रयास 1908 में वेस्ट वर्जीनिया के फेयरमोंट में हुआ, जब ग्रेस गोल्डन क्लेटन ने अपने पिता की याद में एक चर्च सेवा में आयोजित हुई। हालांकि तब इस आयोजन को व्यापक पहचान नहीं मिल सकी।

बाद में 1910 में वाशिंगटन की सोनोरा स्मार्ट डाॅड ने अपने पिता, विलियम जैक्सन स्मार्ट के लिए पहली बार मनाया था। विलियम ने अकेले अपने छह बच्चों की परवरिश की थी। वह अपने बच्चों के लिए मां भी थे और पिता भी। उनके सम्मान में फादर्स डे मनाने की पहल हुई। 19 जून 1910 को स्पोकेन, वाशिंगटन में पहली बार आधिकारिक तौर पर फादर्स डे मनाया गया।

फादर्स डे को राष्ट्रीय मान्यता मिली 1966 में जब अमेरिकी राष्ट्रपति लिंडन बी. जॉनसन ने जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे के रूप में मान्यता दी। 1972 में राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने इस दिन को स्थायी राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया।

फादर्स डे का महत्व

फादर्स डे पिता के योगदान, उनकी परिश्रम, और उनकी समर्पित का सम्मान करने का दिन है। यह दिन हमें यह अवसर प्रदान करता है कि हम अपने पिता के प्रति आभार व्यक्त करें और उनके जीवन में किए गए त्याग और समर्पण को सराहें।

प्यार और सम्मान: फादर्स डे का प्रमुख उद्देश्य पिता के प्रति प्यार और सम्मान प्रकट करना है। यह दिन विशेष रूप से उनके बलिदानों, परिश्रम और निस्वार्थ सेवा को पहचानने और सराहने के लिए होता है। पारिवारिक बंधन: इस दिन को परिवार के साथ मिलकर मनाना एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह दिन परिवार के सभी सदस्यों को एकजुट करता है और पारिवारिक बंधनों को मजबूत बनाता है।

कैसे मनाया जाता है फादर्स डे

फादर्स डे को विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है, और इसे मनाने के तरीके विभिन्न संस्कृतियों और परिवारों में अलग-अलग हो सकते हैं।

उपहार

पिता को उपहार देना इस दिन का एक प्रमुख हिस्सा है। यह उपहार छोटे से लेकर बड़े तक हो सकते हैं, जैसे कि कार्ड, फूल, गैजेट्स, कपड़े, या उनके पसंदीदा आइटम्स।

विशेष भोजन

परिवार के सदस्य अक्सर इस दिन विशेष भोजन बनाते हैं या पिता को बाहर खाने पर ले जाते हैं।

स्मरणीय गतिविधियां

परिवार के सदस्य पिता के साथ समय बिताते हैं और उनकी पसंदीदा गतिविधियां करते हैं, जैसे कि खेल, फिल्म देखना, या आउटडोर पिकनिक।

भावनात्मक संचार

इस दिन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा पिता के साथ भावनात्मक जुड़ाव होता है। पिता के प्रति अपने प्यार और सम्मान को व्यक्त करने के लिए विशेष शब्दों और संदेशों का आदान-प्रदान किया जाता है।

Share:

Next Post

रोहित शेट्टी की सिंघम अगेन देगी भूल भुलैया 3 को टक्कर

Sat Jun 15 , 2024
मुंबई (Mumbai) । दिवाली के मौके पर बॉलीवुड की दो बड़ी फिल्मों के बीच फैंस को बॉक्स ऑफिस पर क्लैश देखने को मिल सकता है। कार्तिक आर्यन की भूल भुलैया 3 (bhool bhulaiya 3) और रोहित शेट्टी (Rohit Shetty) के कॉप यूनिवर्स की सिंघम अगेन, (singham again) दोनों ही फिल्में, दिवाली के मौके पर रिलीज […]