मध्‍यप्रदेश राजनीति

गेंहू पर 2700 रु. प्रति क्विंटल MSP देने से क्यों पीछे हट रही सरकार…कमलनाथ का शिवराज से सवाल

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने सोशल मीडिया पर लिखा कि मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार (Bharatiya Janata Party Government) बने छह महीने बीत चुके हैं और अब तो केंद्र में नई सरकार (New government at the center) का गठन भी हो चुका है तथा आचार संहिता भी समाप्त (code of conduct has also ended) हो चुकी है। इसके बावजूद भारतीय जनता पार्टी ने अब तक किसानों से किया अपना कोई वादा नहीं निभाया है। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में कहा था कि प्रदेश में किसानों को गेहूं का एमएसपी 2700 रुपया प्रति क्विंटल और धान का एमएसपी 3100 रुपया प्रति क्विंटल दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव और नवनियुक्त केंद्रीय कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान से पूछना चाहता हूं कि अब वह कौन सी वजह है जिस कारण भाजपा मध्य प्रदेश के किसानों से किया अपना वादा नहीं निभा रही है। पूर्व सीएम ने कहा कि जब चुनाव में भाजपा यह वादा कर रही थी तो शिवराज जी खुद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। जो वादा उन्होंने मुख्यमंत्री रहते हुए किया है, उसे निभाने में कृषि मंत्री के रूप में वर्तमान मुख्यमंत्री की सहायता करना उनका कर्तव्य है। चुनाव के समय गारंटी की माला जपने वाले अब गारंटी से पीछे क्यों हट रहे हैं? नाथ ने कहा कि वैसे मध्य प्रदेश की जनता अब धीरे-धीरे समझ चुकी है कि भारतीय जनता पार्टी के खाने के दांत और, दिखाने के दांत और हैं। चुनाव से पहले जो भाजपा किसानों से बड़े-बड़े वादे करती है, चुनाव के बाद उन वादों से पीठ फेर लेना उसकी फितरत है।

Share:

Next Post

मध्यप्रदेश को पानी देगा उत्तर प्रदेश, मोहन यादव ने योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

Thu Jun 13 , 2024
बुंदेलखंड: पूरे देश में गर्मी से लोगों का बुरा हाल है. देशभर में गर्मी कहर बरपा रही है. कई जगह तो लोग लू के थपेड़ों से बेहाल हैं. अगर बात करें मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड की करें तो यहां गर्मी के मौसम में अक्सर पानी की समस्या से लोगों की हालत खराब हो जाती है. […]