जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

Pregnancy में क्यों नहीं खाना चाहिए Paracetamol? डॉक्टरों ने बताई सबसे खतरनाक वजह

नई दिल्ली: गर्भवती महिलाओं (Pregnant Women) को पैरासिटामोल (Paracetamol) खाने से बचना चाहिए. हाल ही में की गई एक स्टडी में वैज्ञानिकों ने कहा है कि ये गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास को नुकसान पहुंचाता है. डॉक्टरों ने सलाह दी है कि गर्भवती महिलाओं को अगर पैरासिटामोल खाने की जरूरत भी पड़ती है तो इसके इस्तेमाल को बहुत लिमिट में रखना चाहिए.

पैरासिटामोल के इस्तेमाल के गंभीर नतीजे
वैज्ञानिकों ने इस शोध में आगाह किया कि गर्भवती महिलाओं में पैरासिटामोल (Paracetamol) के इस्तेमाल के गंभीर नतीजे हो सकते हैं. इसके साथ ही वैज्ञानिकों ने कहा कि डॉक्टर की सलाह पर गर्भवती महिलाएं पैरासिटामोल ले सकती हैं, लेकिन चिकित्सकों को उन्हें ये भी बताना चाहिए कि इसके इस्तेमाल से क्या खतरे हो सकते हैं.

बच्चे के विकास पर असर
मेल ऑनलाइन की खबर के मुताबिक, पेनकिलर या पैरासिटामोल जैसी दवा गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास पर असर डालती है. कई स्टडीज में ये सामने आया है कि इससे जन्म के बाद Deficit Hyperactivity Disorder (ADHD), ऑटिज्म, बच्चों के आईक्यू के कम हो जाने और बच्चियों में बोलने में देरी की समस्या हो सकती है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि गर्भवती महिलाओं को पैरासिटामोल लेना भी हो तो इसकी Lowest Effective Dose कम से कम समय के ​लिए लेनी चाहिए. इस स्टडी में वैज्ञानिकों ने पाया कि कैसे अमेरिका में Acetaminophen नाम की दवाई के इस्तेमाल ने गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास को प्रभावित किया.

Urogenital Disorders का खतरा
एक्सपर्ट्स के मुताबिक, अगर महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान पैरासिटामोल लेती हैं, तो इससे भ्रूण के विकास पर असर पड़ता है और जन्म के बाद बच्चे में इससे ब्रेन, रिप्रोडक्टिव और Urogenital Disorders का खतरा बढ़ जाता है.
गर्भावस्था के दौरान पैरासिटामोल को लेकर ये स्टडी Nature Reviews Endocrinology जर्नल में प्रकाशित हुई है.

इस पेपर में दावा किया गया है कि पैरासिटामोल के इस्तेमाल से Neurodevelopmental, Reproductive और Urogenital Disorders हो सकते हैं. इस स्टडी में University of Copenhagen के Dr David Kristensen समेत 91 वैज्ञानिकों ने ह्यूमन और एनिमल स्टडीज के जरिए गर्भवती महिलाओं पर पैरासिटामोल के असर को लेकर अध्ययन किया.

कई वैज्ञानिक ऐसा नहीं मानते
हालांकि कई वैज्ञानिक ऐसा नहीं मानते और उनका कहना है कि ये स्टडी किसी नतीजे पर पहुंचने के लिए काफी नहीं है. वैज्ञानिकों का कहना है कि कई बार गर्भवती महिलाओं में अपने अजन्मे बच्चे को लेकर जो चिंता होती उसका भी बच्चे के विकास पर असर पड़ता है.

कुछ लोगों को एक्स्ट्रा केयर की जरूरत
वहीं NHS का भी ये कहना है कि पैरासिटामोल गर्भवती महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित है और इसे पेन किलर के तौर पर ‘फर्स्ट चॉइस’ कहा जा सकता है. अमेरिका में करीब 65 प्रतिशत महिलाओं ने माना कि उन्होंने प्रेग्नेंसी के दौरान पैरासिटामोल की गोली ली. हेल्थ प्रोफेशनल्स का मानना है कि बस कुछ ही लोगों को एक्स्ट्रा केयर की जरूरत होती है. इनमें ऐसे मरीज होते हैं, जिन्हें लिवर या किडनी की प्रॉब्लम है या वो लोग जो Epilepsy की दवा खाते हैं.

Share:

Next Post

चंबल संभाग के लिए नहीं है Commissioner-IG

Fri Sep 24 , 2021
प्रभार में चल रहे हैं संभागा के बड़े पद भोपाल। पुलिस मुख्यालय और मंत्रालय (Police Headquarters and Ministries) में सचिव, आईजी एवं डीआईजी (Secretary, IG & DIG) स्तर के अधिकारियों की भरमार हैं, लेकिन सरकार के पास चंबल के लिए संभागयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक एवं उप महानिरीक्षक (Divisional Commissioner, Inspector General of Police and Deputy Inspector […]