देश मनोरंजन

जोमैटो के सीईओ दीपिंदर गोयल ने मैक्सिको की इस पूर्व मॉडल से की शादी!

नई दिल्ली (New Delhi)। जोमैटो के सीईओ दीपिंदर गोयल (Zomato CEO Deepinder Goyal) ने मैक्सिकन उद्यमी (Mexican entrepreneur) और पूर्व मॉडल ग्रेसिया मुनोज (former model Gracia Munoz) से शादी की है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गोयल ने कुछ माह पहले ही मुनोज से शादी की है। वे फरवरी में अपने हनीमून से वापस भारत भी लौट आए हैं। हालांकि, अब तक गोयल ने शादी की सार्वजनिक घोषणा नहीं की है।


मुनोज के इंस्टा पोस्ट से शुरू हुई अटकलें
रिपोर्ट के मुताबिक, अचानक शादी की अटकलें मुनोज के इंस्टाग्राम हैंडल के कारण शुरू हुई। उन्होंने इंस्टा बायो में कहा कि वे अब भारत में अपने घर पर हैं। इसके अलावा, उन्होंने दिल्ली के कुछ प्रसिद्ध स्थानों की फोटो-वीडियो भी साझा की थी। इसी के साथ उन्होंने इंस्टा हैंडल से एक पोस्ट भी साझा की थी, जिसमें उन्होंने लिखा था कि मेरे नए घर में मेरे नए जीवन की झलकियां। बता दें, गोयल की पहली शादी कंचन जोशी के साथ हुई थी।

गोयल के इस फैसले से हुआ बवाल
मंगलवार को गोयल ने एक एलान किया था कि शाकाहारी भोजन के लिए तरजीह देने वाले ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए ‘प्योर वेज मोड’ सेवा शुरू की जा रही है। साथ ही शाकाहारी खाने की डिलीवरी करने वाले को हरे रंग की ड्रेस पहने का आदेश दिया गया था। हालांकि, कंपनी को भारी विरोध का सामना करना पड़ा, जिसके बाद जोमैटो ने अपना आदेश वापस ले लिया और अब डिलीवरी बॉय लाल रंग की ड्रेस में ही दिखेंगे।

हालांकि, अगले ही दिन बुधवार सुबह गोयल ने कहा कि हम शाकाहारियों की सेवा करना जारी रखेंगे। लेकिन हरे रंग वाली ड्रेस का आदेश वापस लेने का फैसला लिया है। हमारे सभी डिलीवरी पार्टनर लाल रंग के ही कपड़े पहनेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि लाल रंग वाली ड्रेस पहने डिलीवरी पार्टनर नॉन-वेज खाने से गलत तरीके से जुड़े न हों और किसी विशेष दिनों के दौरान किसी भी आरडब्ल्यूए या सोसाइटी द्वारा ब्लॉक न हों। हमारे राइडर की शारीरिक सुरक्षा हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है।

Share:

Next Post

UP: 54 रुपये की कोयला चोरी के मामले में एक दिन की सजा, 32 साल तक चला मुकदमा

Sat Mar 23 , 2024
बरेली (Bareilly)। क्रिकेट खेलने (play cricket) के दौरान 15 साल के छात्र (15 year old student) पर कोयला चोरी की जो रिपोर्ट हुई। उसका मुकदमा मुरादाबाद रेलवे कोर्ट (Moradabad Railway Court.) में 32 साल चला। महज 54 रुपये के कोयले (Coal costs just Rs 54) की चोरी पर वारंट जारी होते रहे और आरोपी को […]