विदेश

सैनिक की फर्जी तस्वीर से भड़का ऑस्ट्रेलिया, कहा- माफी मांगे चीन


केनबरा । चीन (China) के विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry) ने अफगानिस्तान में ऑस्ट्रेलिया (Afghanistan, Australia) द्वारा युद्ध अपराध की कंप्यूटर से बनाई तस्वीर सोमवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी। इस पर आगबबूला हुए ऑस्ट्रेलिया ने चीनी सरकार को बेशर्म बताया और उसे माफी मांगने को कहा है। इस घटना से दोनों देशों के बीच पहले से तनावग्रस्त संबंध और बिगड़ने की आशंका है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने सोमवार को यह तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट की। इसमें गोद में भेड़ लिए एक बच्चा नजर आ रहा है, जिसे ऑस्ट्रेलियाई सैनिक ने जकड़ रखा है और उसकी गर्दन चाकू से काट रहा है। तस्वीर की पृष्ठभूमि में ऑस्ट्रेलिया का झंडा फैलाकर लगाया गया है। संदेश लिखा है, ‘’डरो नहीं, हम आपको अमन देने आ रहे हैं।’

लिजियान ने पोस्ट के साथ लिखा, ‘ऑस्ट्रेलियाई सैनिकों के हाथों अफगान नागरिकों व कैदियों की हत्या से हतप्रभ हूं। इसकी निंदा करता हूं, ऑस्ट्रेलिया को इसके लिए जिम्मेदार माना जाना चाहिए।’ आमतौर पर लिजियान की पोस्ट को हजार लोग भी रीट्विट नहीं करते, लेकिन दोपहर तक करीब 18 हजार लोगों ने इसे रीट्वीट किया। यह तस्वीर दरअसल एक चीनी प्रोपगेंडा आर्टिस्ट वुहेक्लिन ने कंप्यूटर पर तैयार की है। वह इससे पहले हांगकांग के आंदोलनकारियों के खिलाफ भी ऐसे कई तस्वीरें रच चुका है।

सोशल मीडिया पर इस चीनी युद्धनीति का कड़ा विरोध करते हुए प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन ने कहा कि चीनी सरकार को इस पोस्ट पर शर्म आनी चाहिए। इससे विश्व की नजरों में चीन की छवि गिरती है। उन्हाेंने तस्वीर को हर ऑस्ट्रेलियाई को गुस्सा दिलाने वाली बताते हुए चीन के विदेश मंत्रालय से माफी मांगने को कहा। इसे ट्विटर से हटाने की भी मांग की। उन्हाेंने कहा कि दोनों देशों में तनाव है, लेकिन इस प्रकार की घटिया हरकत नहीं करनी चाहिए। इस वजह से ऑस्ट्रेलिया के साथ खड़े कई देशों के संबंधों पर असर हो सकता है। विदेश मंत्री मरीस पेन ने बताया कि सरकार ने चीन के राजदूत को तलब कर माफी मांगने के लिए कहा है।

गौरतलब है कि  ऑस्ट्रेलिया-चीन में सात महीने से कारोबारी युद्ध जारी है। ऑस्ट्रेलिया से आने वाले कोयले, चीनी, जौ, झींगे, वाइन, तांबे और लकड़ी पर चीन ने रोक लगा दी है। अप्रैल में ऑस्ट्रेलिया ने चीन को कोरोना वायरस फैलाने का जिम्मेदार घोषित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग की थी। दो वर्ष पूर्व भी चीन की हुवावे कंपनी को अपने यहां 5जी नेटवर्क बनाने से प्रतिबंधित किया था। इसी महीने भारत व अन्य प्रमुख देशों के साथ नौ सेना के मालाबार युद्धाभ्यास में ऑस्ट्रेलिया की मौजूदगी ने भी चीन की जलन बढ़ाई थी।

Next Post

अमेरिका में कोरोना से 2.67 लाख से अधिक लोगों की मौत

Tue Dec 1 , 2020
वाशिंगटन । वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) से गंभीर रूप से जूझ रहे अमेरिका (America) में इसके संक्रमण से अब तक 2.67 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में यह महामारी विकराल रूप ले चुकी है और अब तक 1.35 करोड़ से अधिक लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। अमेरिका की […]