देश राजनीति

Kashi Vishwanath Corridor: PM के दौरे से पहले ‘गेरुआ’ रंग में रंगी मस्जिद, मुस्लिम समुदाय ने किया विरोध

वाराणसी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर (Prime Minister Narendra Modi Kashi Vishwanath Corridor) का उद्घाटन 13 दिसंबर को करेंगे। जिसकी तैयारिंया जोरों पर चल रहीं हैं। श्री काशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण समारोह में भाग लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पतित पावनी गंगा (the holy Ganges) के गोद में एक घंटे से अधिक समय तक नौकायन करेंगे। घाटों की आध्यात्मिक नजारा देखने के साथ प्रधानमंत्री भव्य गंगा आरती भी देखेंगे।


बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन 13 दिसंबर को करेंगे। इसी को लेकर पीएम मोदी वाराणसी दौरे को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। विश्वनाथ मंदिर की ओर जाने वाले रास्ते को गेरुआ रंग से रंगा जा रहा है। इसी के चलते एक मस्जिद का रंग भी गेरुआ कर दिया गया, जिसे लेकर मुस्लिम समुदाय में नाराजगी है। यहां तक कि मुस्लिम समुदाय ने वाराणसी विकास प्राधिकरण पर तानाशाही करने का आरोप लगाया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के उद्घाटन के समय साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,अन्य भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे। गंगा घाटों पर प्रधानमंत्री की मौजूदगी के दौरान देव दीपावली सरीखा माहौल होगा। गंगा के दोनों किनारों को लाइटिंग से सजाया जाएगा। घाटों को दीपों से जगमग किया जाएगा। नावों पर लाइटिंग की जाएगी। गंगा किनारे की इमारतें भी रोशनी से सराबोर होगी।

इसके लिए जिला प्रशासन के अफसरों के साथ भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री तरूण चुग,राष्ट्रीय मंत्री ऋतुराज सिन्हा, प्रदेश प्रभारी, सह प्रभारी सुनील ओझा, काशी क्षेत्र अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारी, केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, प्रदेश के पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी और सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि जुटे हुए है।

केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के अनुसार प्रधानमंत्री के साथ यहां आने वाले विभिन्न प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों का भी कट आउट भी लगाया जा रहा है। सम्मेलन में भाजपा शासित 14 प्रदेशों से मुख्यमंत्री आएंगे। भाजपा पदाधिकारियों के अनुसार मुख्यमत्रियों का सम्मेलन अब बरेका में आयोजित किया जाएगा। हर छह माह में मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठकें होती रही हैं। बैठक में कोरोना काल के दौरान और आगामी चुनौतियों से निबटने के लिए और सम सामयिक मुद्दों पर मंथन होगा।


गौरतलब है कि, प्रधानमंत्री 13 दिसम्बर को पूर्वाह्न 11.30 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पर उतरेंगे। वहां से सीधे सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के खेल मैदान में वायुसेना के चापर हेलीकॉप्टर से पहुंचेंगे। इसके बाद पूरे राह शहरियों का अभिवादन करते हुए सड़क मार्ग से बाबा कालभैरव मंदिर जाएंगे।
इस दौरान पूरे रास्ते में भाजपा कार्यकर्ता और नागरिक प्रधानमंत्री पर पुष्पवर्षा कर स्वागत करेंगे। कालभैरव मंदिर में दर्शन पूजन के बाद प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से आदमपुर, कज्जाकपुरा होते हुए राजघाट पहुंचेंगे। यहां क्रूज से सीधे ललिता घाट जाएंगे। घाट से मां गंगा को प्रणाम कर पैदल ही काशी विश्वनाथ धाम पहुंचेंगे। दोपहर 1.30 बजे काशी विश्वनाथ धाम का पीएम लोकार्पण करेंगे। इसके बाद वहां देशभर से पहुंचे संत समाज को संबोधित करेंगे।
प्रधानमंत्री विश्वनाथ धाम की गैलरी में प्रदर्शनी देंखेंगे। प्रधानमंत्री यहां करीब दो घंटे रहेंगे। इसके बाद वह फिर गंगा में क्रूज से रविदास घाट और वहां से सड़क मार्ग से बनारस रेल कारखाना स्थित अतिथि गृह में पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री विश्राम करने के बाद दोबारा फिर सड़क मार्ग से रविदास घाट जाएंगे। यहां पहले से पहुंचें मुख्यमंत्रियों के साथ क्रूज में सवार होकर गंगा आरती को निहारेंगे।

प्रधानमंत्री करीब पौन घंटे तक रविदास घाट से खिड़किया घाट तक घूमकर घाटों की भव्यता देखेंगे। रविदास घाट से सड़क मार्ग से बरेका गेस्ट हाउस लौट जाएंगे। प्रधानमंत्री बरेका परिसर स्थित अतिथि गृह में मुख्यमंत्रियों के साथ औपचारिक बैठक करेंगे। उनके साथ रात में डिनर करेंगे। इस दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश के उपमुख्यमंत्री के अलावा संगठन पदाधिकारी भी रहेंगे।

Share:

Next Post

अमेरिका : एनजीओ ने भारत के दिव्यांगों के लिए जुटाए 2.38 करोड़ रुपये, PM मोदी ने दी बधाई

Tue Dec 7 , 2021
वाशिंगटन। भारतीय-अमेरिकियों द्वारा संचालित एक गैर सरकारी संगठन (NGO) ने भारत के दिव्यांगों के लिए 2.38 करोड़ रुपये एकत्रित किए हैं। भारतीय दिव्यांगों के लिए अपने वार्षिक कार्यक्रम में यह राशि एकत्रित की गई। इस संबंध में ‘वॉयस ऑफ स्पेशली एबल्ड पीपल’ (VOSAP) द्वारा आयोजित प्रदर्शनी का उद्घाटन रविवार को विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी […]