खेल

जीत की राह तलाशेंगे बेंगलुरू एफसी और मोहन बगान

गोवा। बेंगलुरू एफसी (Bengaluru FC) जब गुरुवार को बैम्बोलिन स्थित जीएमसी एथलेटिक स्टेडियम में हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) 2021-22 (Hero Indian Super League (ISL) 2021-22) के लीग मैच में खेलने उतरेगा, तो उसका लक्ष्य एटीके मोहन बगान (ATK Mohun Bagan) पर जीत दर्ज करके तीन मैचों की हार के सिलसिले को खत्म करना होगा। वहीं, मोहन बगान अपने पिछले तीन मैचों में जीत से दूर है और वह चिर-प्रतिद्वंद्वियों के अगामी मुकाबले को जीतकर पूरे तीन अंक हासिल करना चाहेगा।

बेंगलुरू ने ना केवल अपने खेले तीन मैच गंवाए है, बल्कि छह मुकाबलों में उसे सिर्फ एक जीत मिली है। वो ग्यारह टीमों की अंक तालिका में अब तक मात्र चार अंक बटोरकर नौवें स्थान पर है। पूर्व चैम्पियनों ने पांच मैचों में जीतरहित अभियान में 10 गोल खाएं हैं, जिससे पता चलता है कि छह मैचों में कुल 12 गोल खाने वाली डिफेंस में कितना बड़ा सूराख है।


बेंगलुरू अपने पिछले दस मैचों में क्लीन शीट (गोल नहीं खाना) नहीं रख सका है। इस दौरान उसने 21 गोल खाए हैं, जो कि बताता है कि भारत के नंबर एक गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू बार के नीचे गलतियां कर रहे हैं।

जर्मन कोच मार्को पेज्जैउओली की टीम एक ईकाई के तौर पर खेल नहीं सकी है। उसके विदेशी खिलाड़ी क्लीटन सिल्वा और प्रिंस इबारा ने कुछ हद तक प्रभाव छोड़ा है लेकिन शेष अन्य खिलाड़ी असरहीन नजर आए हैं।

इस सीजन में बेंगलुरू एफसी की निराशाजनक शुरुआत के बीच ब्राजीली फॉरवर्ड सिल्वा ही एक उम्मीद की किरण बनकर उभरे हैं। उन्होंने हीरो आईएसएल 2021-22 में तीन गोल दागने के अलावा तीन बार गोल करने में सहायता भी की है। वह 11 बार गोल करने की मौके भी बना चुके हैं, जो कि इस सीजन में बेंगलुरू के किसी भी खिलाड़ी से ज्यादा है।

सुनील छेत्री अब तक ऑफ कलर चल रहे हैं और यह भारतीय दिग्गज अगामी मुकाबले में अपने गोल के सूखे को खत्म करना चाहेगा। जर्मन कोच मार्को पेज्जैउओली ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा, “एटीके मोहन बगान के खिलाफ मैच आसान नहीं होने वाला है। लेकिन हम तीन अंक जीतने के लिए लड़ेंगे।”

दूसरी ओर, एटीके मोहन बगान के लिए भी चीजें आसान नहीं रही हैं। पिछले साल की फाइनलिस्ट बगान ने अब तक दस गोल खाएं हैं, जिसमें लीग की शीर्ष टीम मुंबई सिटी एफसी के खिलाफ एक मैच में पांच गोल भी शामिल हैं। स्पेनिश कोच एंटोनिओ लोपेज हबास की टीम पांच मैचों में सात अंकों के साथ छठे स्थान पर हैं। ग्रीन-महरून ब्रिगेड को जीत शीर्ष चार में पहुंचाएगी लेकिन इसके लिए टीम के अहम खिलाड़ियों को पूरे दमखम से जी-जान लगानी होगी।

कल के मैच के बारे में पूछे जाने पर स्पेनिश कोच एंटोनिओ लोपेज हबास ने कहा, “बेंगलुरू एफसी का इतिहास अच्छा रहा है और वो एक अच्छी टीम है। हमें पूरी तरह से तैयार रहना होगा।” (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

निजीकरण के विरोध में बैंक कर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल आज से

Thu Dec 16 , 2021
नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मचारी (public sector bank employees) 16 एवं 17 दिसंबर को हड़ताल (strike) पर रहेंगे। इसके चलते इन दोनों दिन बैंकों में कामकाज नहीं होगा। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (United Forum of Bank Unions) ने बैंकों के निजीकरण (privatization of banks) के लिए केंद्र सरकार द्वारा लाए गए बैंकिंग […]