देश भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

भोपालः कमिश्नर के सख्त निर्देश, सभी सड़कों की जल्द कराएं मरम्मत

भोपाल। बारिश के कारण खराब हुई सभी सड़कों की जल्द से जल्द मरम्मत कराएं। सड़कों की धूल और गड्ढ़ों से आमजन के स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है। यह निर्देश भोपाल संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत ने गुरुवार को सड़क निर्माण एजेंसियों के अधिकारियों को दिए। बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया एवं नगर निगम आयुक्त केवीएस चौधरी कोलसानी उपस्थित थे।

संभागायुक्त ने कहा कि सभी सड़कों के दोनों तरफ बारिश के कारण जमा हुए कीचड़ और कचरे की सफाई कराएं। सभी निर्माण एजेंसियां अभियान चलाकर सभी जर्जर सड़कों का मरम्मत का कार्य त्वरित गति से कराएं।

कमिश्नर कियावत ने कहा कि संयुक्त आयुक्त अनिल द्विवेदी के मार्गदर्शन में निर्माण एजेंसी के इंजीनियर और राजस्व अधिकारी सहित तीन सदस्यीय टीम सड़कों की वस्तुस्थिति का आंकलन कर फीड बैक देगी। उसी आधार पर यथाशीघ्र सड़कों की मरम्मत का कार्य पूर्ण कराया जाए।


उन्होंने कहा कि सड़कों पर सीवर लाइन, फोन लाइन, जल सप्लाई आदि उद्देश्यों को देकर पाइप लाइन डालने के कार्यों को करने वाली एजेंसियों या ठेकेदारों की टेंडर के दौरान ही जवाबदेही तय की जाए। संबंधित शासकीय निर्माण एजेंसी इस बात की मुश्तैदी से मॉनीटरिंग करें कि निर्माण कार्य पूर्ण होने के पश्चात ध्वस्त सड़क का गुणवत्तायुक्त निर्माण कार्य हो। पाइप सड़क के ध्वस्त हिस्से का गुणवत्तायुक्त निर्माण सुनिश्चित किया जाए।

कमिश्नर कियावत ने परफार्मेंस गारंटी पीरियड में सड़क की गुणवत्ता में कमी आने पर संबंधित के विरूद्व त्वरित सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये। सभी रेलवे स्टेशन एवं बस स्टैण्ड के प्रवेश बिन्दुओं पर सड़क के बेहतर मेंटेनेंस करने के निर्देश दिये गये। ऐसी सभी प्रमुख सड़कों के सीसी रोड के प्रस्ताव बनाने का कहा गया, जहां आवागमन की अधिकता के कारण हर 3 से 4 साल में रोड का पुर्निर्माण कराना पड़ता है। बीआरटीएस की रोड पर बस संचालन के कारण बहुत ज्यादा धूल उड़ने से आमजन को परेशानी होती है। इसलिए अतिशीघ्र सड़कों की मरम्मत की जाए। साथ ही जिन सड़कों का पुर्ननिर्माण होना है उनके कार्य बारिश का सीजन खत्म होते ही समय पर प्रारंभ किए जाए।

शासकीय चिकित्सा संस्थानों में सभी पदों पर पारदर्शी तरीके से हो भर्ती
संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत ने गुरुवार को चिकित्सा संस्थानों में मेडिकल ऑफिसर, नर्स, असिस्टेंट प्रोफेसर, लैब टेक्नीशियन आदि रिक्त पदों पर भर्ती विषय की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिये कि सभी शासकीय चिकित्सा संस्थानों में विभिन्न पदों पर भर्ती “ओपन फॉर ऑल” के नियम के आधार पर पूरी पारदर्शिता के साथ की जाए।

संभागायुक्त कियावत ने कहा कि सभी पदों का विज्ञापन समाचार पत्रों में दिया जाए तथा भर्ती संबंधी नियमों का अक्षरश: पालन करते हुए भर्ती की जाए। ओपन फॉर ऑल नियम से भर्ती होने पर संस्थानों को योग्यतम उम्मीदवार मिलेंगे साथ ही सभी के साथ न्याय होगा। श्री कियावत ने निर्देश दिए हैं कि पदों की पूर्ति अगले एक-दो माह में होने वाली रिक्तियों को ध्यान में रखकर की जाए। उन्होंने कहा कि संस्थान अपनी सुविधा के अनुसार व्यापम, एमपी ऑनलाइन या स्वयं भर्ती कर सकते हैं। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

इंदौरः आगाज अभियान शुरू, बच्चों के अधिकारों के संबंध में लाई जायेगी जागरूकता

Fri Aug 13 , 2021
इंदौर। इंदौर जिले में बच्चों की सुरक्षा और उनके अधिकारों के प्रति जागरूकता लाने के लिये आगाज (Voices For Child Protection) अभियान प्रारंभ किया गया है। इसका शुभारंभ गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर जिला प्रशासन, महिला एवं बाल विकास विभाग, यूनिसेफ और उसकी सहयोगी संस्था ममता (HIMC) द्वारा किया गया। इस अभियान […]