इंदौर न्यूज़ (Indore News)

इंदौर में 37 परीक्षा केंद्रों पर डेढ़ घंटे पहले सुबह 8 बजे से अभ्यर्थी पहुंचे

  • संघ लोक सेवा आयोग की देशभर में परीक्षा आज
  • दो सत्रों में परीक्षा, अकेले इंदौर में 15 हजार से ज्यादा अभ्यर्थी, दिल्ली के ऑब्जर्वर इंदौर आए

इन्दौर। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा आज देशभर में आयोजित की जा रही है। अकेले इंदौर शहर में 15 हजार से ज्यादा अभ्यर्थी 37 परीक्षा केंद्रों पर शामिल हो रहे हैं। सुबह 9.30 बजे शुरू हुई परीक्षा के लिए 8 बजे से परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों का पहुंचना शुरू हो गया था। सख्त चेकिंग के बाद ही प्रवेश दिया गया।

इंदौर शहर में होलकर साइंस, आर्ट एंड कॉमर्स, आईपीएस कॉलेज के साथ सराफा विद्या निकेतन, बाल विनय मंदिर कस्तूरबा गल्र्स स्कूल, क्लॉथ मार्केट हाई स्कूल, शारदा कन्या गल्र्स स्कूल आदि 37 परीक्षा केंद्रों पर यूपीएससी के 15225 अभ्यर्थियों का परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इंदौर कमिश्नर दीपक सिंह इंदौर में हो रही परीक्षा के समन्वयक अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। परीक्षा की व्यवस्थाओं को चाकचौबन्द बनाने के लिए दिल्ली से ऑब्जर्वर पीसी पुरकांत इंदौर में प्रत्येक केंद्र पर नियुक्त ऑब्जर्वर के संपर्क में रहेंगे। इसके साथ जिला प्रशासन की ओर से अधिकारी परीक्षा के लिए नियुक्त किए गए हैं। कमिश्नर कार्यालय इंदौर में परीक्षा के दौरान कंट्रोल रूम बनाया गया है। दो सत्र में हो रही इस परीक्षा के लिए सुबह 9.30 से 11.30 और दोपहर में 2.30 से 4.30 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। सुबह परीक्षा से तकरीबन डेढ़ घंटा पहले ही अभ्यर्थियों का परीक्षा केंद्र पर पहुंचना शुरू हो गया था।


दूसरे शहरों के अभ्यर्थी कल शाम को ही पहुंच गए थे
इंदौर में हो रही परीक्षा में खरगोन, खंडवा, झाबुआ सहित अन्य शहरों के अभ्यर्थी कल शाम को ही इंदौर पहुंच गए थे। कुछ ऐसे भी विद्यार्थी रहे, जो सीधे परीक्षा केंद्र पर ही अपने शहर से पहुंचे। परीक्षा केंद्र के बाहर बड़ी संख्या में कतारबद्ध अभ्यर्थी प्रवेश के लिए अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए।

चेकिंग सख्त
अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र मे प्रवेश के पहले सख्त चेकिंग से गुजरना पड़ा। हाफ आस्तीन की शर्ट में प्रवेश दिया गया। ज्यादातर परीक्षा केंद्रों पर चेकिंग के दौरान अपने जूते उतरना पड़े, वहीं इलेक्ट्रॉनिक गैजेट घड़ी एवं अन्य सामग्री साथ नहीं ले जा पाए।

इन्तजार… बाहर बैठे अभिभावक
परीक्षा केंद्रों के बाहर अभिभावक अभ्यर्थियों का इंतजार करते देखे गए। धूप के चलते लोग आसपास छांव तलाशते रहे तो कुछ खाने-पीने की दुकानों को खोजते देखे गए।

Share:

Next Post

लोककला को प्रोत्साहित करने के लिए प्रदेश में होंगे उत्सव

Sun Jun 16 , 2024
मुख्यमंत्री ने कहा-कला हमारी लोक संस्कृति का सशक्त माध्यम इन्दौर। कल रात मालवा उत्सव में पहुंचे मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि ऐसे उत्सव राज्य में और उसके बाहर भी होना चाहिए। अगले साल जब मालवा उत्सव का 25वां साल रहेगा, तब इस तरह के उत्सव होना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि कला हमारी […]