बड़ी खबर राजनीति

पशुपति पारस को मनाने पहुंचे चिराग पासवान, राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने के लिए तैयार, दिया ये प्रस्ताव

डेस्‍क। पांच सांसदों के एलजेपी से अलग होने के बाद लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) नाराज सांसदों को मनाने में जुट गए हैं. सूत्रों से एक बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आई है कि चिराग एक प्रस्ताव लेकर अपने चाचा और सांसद पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) के पास पहुंचे हैं. चिराग पासवान एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने के लिए तैयार है.

जानकारी के अनुसार चिराग पासवान एक प्रस्ताव लेकर पशुपति पारस के पास पहुंचे हैं. उन्होंने अपनी जगह मां रीना पासवान को लोजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव रखा है. फिलहाल अभी यह पूरी तरह से साफ नहीं हो पाया है कि पशुपति पारस की तरफ से इस प्रस्ताव के बारे में क्या कहा गया है.

विधानसभा चुनाव से ही पड़ गई थी फूट
रविवार रात से ही एलजेपी में फूट की खबरों के बाद से चिराग पासवान ने नेताओं से मिलना शुरू कर दिया था. उम्मीद जताई जा रही थी कि चिराग कोई बड़ा दांव खेलेंगे. अब यह देखना होगा कि वे अपने इस प्रयास में कामयाब हो पाते हैं या नहीं. एलजेपी में फूट एक दिन का खेल नहीं हैं. विधान सभा चुनाव में जब उन्होंने अकेले लड़ने का फैसला लिया तभी से सांसदों में नाराजगी चल रही थी और उसी समय से पार्टी में फूट पड़ गई थी.

पार्टी से पारस को साइड लाइन कर दिया था
उन्होंने पशुपति पारस को दलित सेना का प्रभार सौंप कर पार्टी में साइड लाइन कर दिया था. वे एलजेपी के किसी भी फैसले में किसी की राय नहीं लेते थे. चिराग और संगठन के कार्यकर्ताओं के बीच दूरियां बढ़ चुकी थीं. चिराग से सासंदों को मिलने में हफ्तों का समय बीत जाता था. कई बार तो कई सांसद चिराग से मिल ही नहीं पाए. गौरतलब है कि रविवार शाम को लोजपा संसदीय दल की बैठक हुई थी. इस बैठक में पार्टी के सभी सांसदों ने पशुपति कुमार पारस को अपना नेता चुना और पांचो सांसदों ने इसे लेकर पत्र पर हस्ताक्षर भी किए.

Next Post

ग्रामीण क्षेत्रों में Electricity Board के खुले तारों से लग रही है आग

Mon Jun 14 , 2021
शहर में भी कई डिपियाँ खुली हैं-ग्रामीण लोगों की जान खतरे मे-बारिश से पूर्व हो मेंटेनेंस उज्जैन। ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के तारों के कारण लोगों की जान खतरे में है और आए दिन आग लग जाती है। यही हालत शहर की डीपियों की है जिनमें ताले नहीं हैं और दरवाजे खुले रहते हैं। विद्युत […]