भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

चुनाव से दूरी बनाने वाले कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह फिर लड़ेंगे चुनाव

भोपल। पिछले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में चुनाव से दूरी बनाने वाली पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने हाल ही में एकबार फिर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है तो इसी तरह कांग्रेस के वरिष्ठतम विधायक डॉ. गोविंद सिंह (Dr. Govind Singh) ने कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) बनने के बाद अगला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने की बात कही थी। मगर अब कहा जा रहा है कि पार्टी अपने एक विधायक को कम नहीं करना चाहती तो उन्हें भी चुनाव लड़ाएगी।

मध्य प्रदेश विधानसभा में गोपाल भार्गव (Gopal Bhargava) के बाद सबसे वरिष्ठ विधायकों में कांग्रेस के डॉ. गोविंद सिंह है जो भिंड जिले की लहार विधानसभा सीट का सातवीं बार प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। सातवीं बार के विधायकों में तीन अन्य भाजपा के हैं जिनमें गौरीशंकर बिसेन (Gaurishankar Bisen), करण सिंह वर्मा और विजय शाह (Karan Singh Verma and Vijay Shah) हैं। डॉ. गोविंद सिंह जब 2018 में चुनाव जीतकर आए थे और कमलनाथ सरकार में मंत्री बने थे तब कहा था कि अब वे अगला चुनाव नहीं लड़ेंगे। डॉ. सिंह इस समय 71 साल के हैं और अब बदली हुई परिस्थितियों में कांग्रेस ने एक-एक विधानसभा सीट पर जीतने वाले नेताओं पर विचार शुरू कर दिया है।


प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष प्रकाश जैन (Vice President Prakash Jain) ने बताया कि पार्टी लहार विधानसभा सीट पर डॉ. गोविंद सिंह को ही उतारने का विचार कर रही है। ऐसा नहीं है कि डॉ. गोविंद सिंह मध्य प्रदेश के एकमात्र नेता हैं जो चुनावी राजनीति से दूर होने का मन बनाने के बाद फिर चुनाव लड़ने के लिए मैदान में उतरेंगे, बल्कि हाल ही में भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती भी ऐसा कर चुकी हैं। भारती ने हाल ही में चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। उनका कहना था कि उन्होंने कभी चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान नहीं किया।

हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में उमा भारती (Uma Bharti) को टिकट नहीं मिला था और अब गंगा यात्रा करने के बाद उनकी फिर राजनीति में सक्रियता बढ़ गई है। यह पहला मौका नहीं है जब चुनावी राजनीति में उतरने के बाद उससे दूरी करने का ऐलान करने वाले नेता फैसले से संतुष्ट नहीं रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर दस बार विधानसभा चुनाव जीतकर विधायक बने थे लेकिन 2018 में टिकट के लिए आखिरी समय तक वे प्रयास करते रहे। पार्टी ने उन्हें मनाकर उनकी बहू कृष्णा गौर को टिकट दिया और वे भी ससुर की सीट से विधायक बन गईं।

Share:

Next Post

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने किया भोपाल-चेन्नई फ्लाइट का शुभारंभ, शिवराज बोले विकास को गति मिलेगी

Wed Mar 30 , 2022
भोपाल। केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने मंगलवार शाम को दिल्ली से हरी झंडी दिखाकर भोपाल से चेन्नई (Bhopal to Chennai) के बीच नई फ्लाइट का शुभारंभ किया। कार्यक्रम से केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह (General VK Singh), सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री डॉ. एल. मुरगन (Dr. L. morgan), […]