देश राजनीति

पूर्व केंद्रीय मंत्री का विवादित बयान, बोले- ‘जवानों की हत्या कराती है सरकार’

नई दिल्ली (New Delhi)। मनमोहन सिंह सरकार (Manmohan Singh Government) में रक्षा राज्य मंत्री (Secretary of State for Defence) रहे और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जीतेंद्र सिंह (Senior Congress leader Jitendra Singh) ने विवादित बयान दिया है। असम में कांग्रेस पार्टी की एक बैठक में हिस्सा लेने गए सिंह ने कहा, बीजेपी सरकार (BJP government) के हाथ खून से रंगे हुए हैं. उनकी सरकार न केवल भ्रष्ट है बल्कि उसके हाथ खून से भी सने हैं उन्होंने केवल राजनीतिक लाभ के लिए हमारे जवानों की हत्या कर दी है।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, राजनीतिक फायदे के लिए पुलवामा हमले का ढिंढोरा पीटा गया, उस वक्त लोगों को पता ही नहीं था कि यह सब राजनीतिक फायदे के लिए हो रहा है और जिस पार्टी को वोट दे रहे हैं उसकी मिलीभगत है।


देश के लिए बड़ा खतरा पैदा कर चुकी है सरकार
ये सरकार देश की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा पैदा कर चुकी है. सरकार ने इस देश के नौजवान सैनिकों के मान–सम्मान को ठेस पहुंचाया है. उनकी हत्या की है, और यह हत्या केवल राजनीतिक फायदा उठाने के लिए की है. उन्होंने कहा, पुलवामा हमले के बाद पूरे देश में ढिंढोरा पीटने वाले इस मामले में सिर्फ राजनीतिक फायदे की बात करते रहे और भोली–भाली जनता ने उनको फायदा दे भी दिया।

देश की 140 करोड़ जनता को उस समय मालूम नहीं था कि सारा खेल राजनीतिक फायदा उठाने के लिए हो रहा है. जिस पार्टी को वोट दे रहे हैं वो मिले हुए हैं. जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मालिक के बयानों पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए जितेंद्र सिंह ने यह भी कहा कि पुलवामा हमले को लेकर खुलासे के बीस दिन बीतने के बाद भी पीएम मोदी चुप क्यों हैं?

जीतेंद्र सिंह के इस बयान से बड़ा विवाद इसलिए भी खड़ा हो सकता है क्योंकि उन्होंने सीधे केंद्र सरकार पर अपने जवानों की हत्या कराने का आरोप लगा दिया है. साथ ही उन्होंने इसको राजनीतिक फायदे से जोड़ते हुए इसके पीछे बीजेपी का हाथ होने की बात कह दी है।

Share:

Next Post

रूस ने SCO में किया चीन का खुला समर्थन, क्वाड-AUKUS को लेकर कही ये बात

Sat Apr 29 , 2023
नई दिल्ली (New Delhi)। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध (russia ukraine war) शुरू होने के बाद से दुनियाभर में कूटनीतिक समीकरण बदले हैं। खासकर भारत (India) को अपनी तरफ लेकर चलने को लेकर अधिकतर देश सजग हुए हैं। इनमें रूस (Russia) और अमेरिका (America) सबसे आगे हैं। हालांकि, भारत की ओर से अपनी रक्षा […]