देश मध्‍यप्रदेश

सागर में कोरोना का कोहराम, एक दिन में जलीं 32 लाशें, मुक्तिधाम में जगह नहीं

सागर। पूरे प्रदेश में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण के बीच सागर से भी बड़ी खबर आई है। यहां भी कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। नरयावाली मुक्तिधाम में बुधवार को 1 ही दिन में 32 शवों का कोरोना प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया। मुक्तिधाम परिसर में चारों तरफ चीख-पुकार मची हुई थी।

कोरोना प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे परिजनों ने अपनों को करीब 150 मीटर दूरे से आखिरी बार विदाई दी। गौरतलब है कि 21 अप्रैल को सागर BMC में 28 लोगों की मौत हुई। इनमें से 2 कोरोना पॉजिटिव की मौत हुई। वहीं 15 मृतकों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 11 मृतकों की रिपोर्ट आना बाकी है। हालांकि प्रशासन ने सभी मृतकों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल से ही कराया।

अभी तक जा चुकी 206 की जान
बता दें, मंगलवार को सागर BMC में 27 लोगों की मौत हो गई थी। इसमें से 17 की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव थी और 10 की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। सागर में अभी तक 206 लोगों की कोरोना वायसर से मौत हो चुकी है। शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8945 है।

मुक्तिधाम में नहीं बची जगह, खुले में अंतिम संस्कार
बड़ी संख्या में शवों के आने से नरयावली नाका मुक्तिधाम में दूसरे शवों को जलाने जगह नहीं बची है। अब यहां मुक्तिधाम के खुले परिसर में शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। कोरोना पॉजिटिव मरीज के शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए 3 क्विंटल लकड़ी और 1 लीटर डीजल का उपयोग किया जा रहा है।

मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए लोग वाहन लेकर पहुंच रहे हैं। ऐसे में नगर निगम द्वारा मुक्तिधाम में सैनेटाइजर का टैंकर खड़ा किया गया है। यहां नगर निगम के कर्मचारी अंतिम संस्कार के बाद लौटने वाली व्यक्ति और उसकी गाड़ी को सैनेटाइज कर रहे हैं। ताकि, कोरोना संक्रमण को रोका जा सके।

Next Post

पौषक तत्‍वों का खजाना है चुकंदर, गर्मियों में सेवन करनें के अनोखें फायदें

Thu Apr 22 , 2021
गर्मी के मौसम में चुकंदर खाने के बहुत से फायदे बताए जाते हैं। ये न सिर्फ डैमेज स्किन (Damage Skin) में जान फूंकने का काम करती है, बल्कि लो हीमोग्लोबिन (Hemoglobin) लेवल को भी फिट रखता है। आधुनिक विज्ञान भी इसे काफी लाभदायक मानता है। कई शोधों में ये सामने आया है कि इसके सेवन […]