इंदौर

7 दिन में शहर की बिगड़ी सफाई व्यवस्था सुधारेगा निगम

  • फुटपाथों, उद्यान, बाजारों से लेकर सभी प्रमुख क्षेत्रों में भी चलेगा विशेष अभियान

इंदौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल एक बार फिर राष्ट्रीय महापौर सम्मेलन में इंदौर के स्वच्छता मॉडल की जमकर सराहना की और कहा कि देश के अन्य शहर इससे सीखें। वहीं दूसरी तरफ शहर की जो सफाई व्यवस्था बीते दो माह में गड़बड़ाई है उसे अब हफ्तेभर में पटरी पर लाया जाएगा। आयुक्त ने सफाई व्यवस्था में लापरवाही के मामले में जहां दरोगा को निलंबित किया, वहीं एनजीओ की बैठक में निर्देश दिए कि हफ्तेभर में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए।

आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा लगातार वार्डों के दौरे किए जा रहे हैं। कल वार्ड क्र. 25 और 26 के दौरे में कचरा और गंदगी पाए जाने पर क्षेत्रीय दरोगा गोपाल पटोना पर कार्रवाई की गई तो 60 फीट एयरपोर्ट रोड के पहुंच मार्ग को बनाने के भी निर्देश दिए, ताकि कृष्णबाग, आराधना नगर, लोकनायक नगर आदि कॉलोनियों के लोगों को राहत मिल सके। वहीं सभी झोन और वार्ड प्रभारियों के साथ एनजीओ हेड की भी समीक्षा की, जिसमें अपर आयुक्त संदीप सोनी, अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा और मुख्य स्वास्थ्य पदाधिकारी डॉ. अखिलेश उपाध्याय मौजूद रहे। आयुक्त ने स्पष्ट निर्देश दिए कि अगले सात दिनों में पूरे शहर की सफाई व्यवस्था में सुधार नजर आए। कहीं पर भी कचरा पड़ा होने की शिकायत नहीं मिलना चाहिए।

दुकानों के सामने डस्टबिन रखवाएं और ग्रीन वेस्ट, सीएनजी वेस्ट से लेकर सभी तरह का कचरा एकत्रित करें। नदी किनारे, फुटपाथ, उद्यान, प्रमुख बाजारों में विशेष सफाई अभियान भी चलेगा। अभी लगातार बारिश के कारण भी निगम को सफाई व्यवस्था बहाल करने में परेशानी आ रही है। अब 25 सितंबर के बाद बारिश की संभावना कम ही है और नवरात्रि के बाद फिर दशहरा-दीपावली जैसे बड़े त्योहार भी आ रहे हैं। इतना ही नहीं, शहर के वायु प्रदूषण ोतों का भी निगम अध्ययन करा रहा है और इसके निवारण के लिए भी किए जाने वाले कार्य कराए जा रहे हैं। चार स्थानों पर प्रदूषण मापक संयंत्र भी लगवाए जा रहे हैं। क्लीन एयर केटेलिस्ट द्वारा सुझाए जा रहे वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के उपायों को भी निगम गंभीरता से लागू करेगा। नए संयंत्र पर भी चार करोड़ की राशि खर्च की जाएगी।

Share:

Next Post

एक माह की मासूम मांग रही मां की मौत का इंसाफ

Wed Sep 21 , 2022
इंदौर। एक माह की मासूम जिसे अपनी मां का दूध तक नसीब नहीं हुआ, न मां का चेहरा देख सकी, न ममता और लाड़-दुलार महसूस कर सकी। अब वह अपनी मां की मौत का इंसाफ मांगने के लिए कलेक्टर कार्यालय के चक्कर काट रही है। गौतमपुरा निवासी उर्मिला कछावा की मौत बच्ची को जन्म देने […]