देश

बंगाल में ED की टीम पर हमला, TMC नेता के ठिकाने पर गई थी छापा मारने

डेस्क: राशन घोटाले के सिलसिले में तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख के आवास पर छापा मारने की कोशिश के दौरान पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में स्थानीय लोगों ने प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों और उनके साथ आए सीआरपीएफ के जवानों को खदेड़ दिया. गुस्साई भीड़ ने वाहन को चारों तरफ से घेर लिया था, जिसके बाद हमला किया. भीड़ के गुस्से को देखते हुए ईडी की टीम को मौके से पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा. वहीं, ईडी की टीम पर हुए हमले में एक युवक को चोट भी पहुंची है.

बताया गया है ईडी के अधिकारी जिस समय टीएमसी नेता शाहजहां शेख के ठिकाने पर घुसने की कोशिश कर रहे थे. घर का दरवाजा बंद था और उन्होंने ताले को तोड़कर घर के अंदर घुसने की कोशिश की. इस बीच वहां भीड़ जमा हो गई और उसने देखते ही देखते ईडी की टीम पर हमला बोल दिया. हमला करने वाले लोग शाहजहां शेख के समर्थक बताए जा रहे हैं.


शाहजहां शेख लंबे समय से एक राशन डीलर हैं. वह पूर्व खाद्य मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक के भी खासे करीबी माने जाते हैं. ईडी के अधिकारियों का मानना ​​है कि नेता के घर की तलाशी लेने पर राशन में हुए भ्रष्टाचार मामले से जुड़े दस्तावेज मिलेंगे. हालांकि ईडी को शुक्रवार को खाली हाथ लौटना पड़ा है. ईडी राज्य में कई मामलों की जांच कर रही है और उसने कई जगहों पर तलाशी भी ली है.

कोलकाता समेत 15 ठिकानों पर ईडी की छापेमारी
हालांकि, ईडी की टीम को राज्य में इस तरह के हमले का पहले कभी सामना नहीं करना पड़ा है. यहां तक ​​कि सशस्त्र केंद्रीय बलों को भी ग्रामीणों ने नजरअंदाज कर दिया. सवाल उठता है कि आखिर शाहजहां के घर में ऐसी कौन सी जानकारी है, जिसके लिए उनके समर्थकों ने इस तरह हमला किया? ईडी के अधिकारी शुक्रवार सुबह से ही कोलकाता समेत कम से कम 15 जगहों पर छापेमारी कर रहे हैं.

Share:

Next Post

बजरंगी की हत्या के विरोध में हिन्दूवादियों का प्रदर्शन, 1 करोड़ मुआवजा मांगा

Fri Jan 5 , 2024
इंदौर। भाजपा कार्यकर्ता एवं बजरंग दल से जुड़े कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में आज मालवा मिल अनाज मंडी में बजरंगियों ने आज प्रदर्शन किया। इस दौरान आंदोलन की रुपरेखा तैयार की गई और तय किया गया कि मृतक के परिजन को 1 करोड़ के मुआवजे की मांग को लेकर रविवार को बजरंगी और हिन्दूवादी […]