खेल

पूर्व कोच रवि शास्त्री का बड़ा दावा, वनडे क्रिकेट से सन्‍यास ले सकते हैं हार्दिक पंड्या

नई दिल्‍ली। इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के वनडे इंटरनेशनल से संन्यास लेने के बाद क्रिकेट जगत में हलचल मचा दी है. कई खिलाड़ियों का मानना ​है कि बिजी इंटरनेशनल शेड्यूल(international schedule) के चलते वे मानसिक और शारीरिक (mental and physical) तौर पर थक रहे हैं. वैसे भी ज्यादा क्रिकेट होने के चलते तीनों फॉर्मेट खेलना खिलाड़ियों के लिए तेजी से कठिन होता जा रहा है. ऐसे में आने वाले दिनों में दूसरे खिलाड़ी भी बेन स्टोक्स की राह पकड़ सकते हैं.

इसी बीच टीम इंडिया (team india) के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने बड़ा बयान दिया है. शास्त्री ने कहा कि टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या अगले साल भारत में होने वाले विश्व कप के बाद वनडे से संन्यास ले सकते हैं. शास्त्री के मुताबिक 28 साल के हार्दिक पंड्या अपना ध्यान टी20 क्रिकेट पर लगा सकते हैं. पूर्व भारतीय क्रिकेटर(Indian cricketer) ने यह भी बताया कि न केवल पांड्या, बल्कि कई अन्य खिलाड़ी भी अपना पसंदीदा फॉर्मेट चुनना शुरू कर देंगे, जिसके वे हकदार हैं.



दूसरे खिलाड़ी भी ऐसा करेंगे: शास्त्री
शास्त्री ने कहा, ‘टेस्ट क्रिकेट हमेशा महत्वपूर्ण बना रहेगा. खिलाड़ी अब पहले से ही चुनने लगे हैं कि वह कौन से प्रारूप खेलना चाहते हैं. हार्दिक पंड्या को ही ले लीजिए जो टी20 क्रिकेट खेलना चाहते हैं. हार्दिक के मन में यह बात साफ है कि वह और कुछ नहीं खेलना चाहते. वह 50 ओवर का क्रिकेट खेलेंगे क्योंकि अगले साल भारत में विश्व कप है. उसके बाद आप उन्हें 50 ओवर से जाते हुए भी देख सकते हैं. आप दूसरे खिलाड़ियों के साथ भी ऐसा ही होते हुए देखेंगे. वे फॉर्मेट चुनना शुरू कर देंगे और उन्हें इसका पूरा अधिकार है.’

फ्रेंचाइजी क्रिकेट का होगा वर्चस्व: शास्त्री
शास्त्री ने यह भी कहा कि फ्रेंचाइजी क्रिकेट भविष्य में हावी रहेगा. क्रिकेट के रिजल्ट को देखना होगा, खासतौर पर द्विपक्षीय क्रिकेट क्योंकि क्रिकेटरों को वैश्विक घरेलू लीग में खेलने से कोई रोक नहीं रहा है. जब तक दुनिया भर के बोर्ड अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कटौती का फैसला नहीं करते, क्रिकेटर्स कुछ फॉर्मेट से संन्यास लेना जारी रखेंगे.

शास्त्री ने बताया, ‘फ्रेंचाइजी क्रिकेट दुनिया भर में राज करने वाली है. फिर आपके पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैसे होगा? आपको वॉल्यूम में कटौती करनी होगी. आपको द्विपक्षीय क्रिकेट में कटौती करनी होगी और उस दिशा में जाना होगा. आप खिलाड़ियों को अलग-अलग फ्रेंचाइजी के लिए खेलने से कभी नहीं रोक पाएंगे.’

Share:

Next Post

हादसे का शिकार हुए छह कांवड़ियों की एक साथ निकली अंतिम यात्रा, सैकड़ों लोगों ने नम आखों से दी विदाई

Sun Jul 24 , 2022
ग्वालियर । ग्वालियर जिले (Gwalior District) के बहांगी खुर्द गांव में शनिवार शाम उस वक्त लोगों की आंखें नम हो गईं, जब गांव के छह कांवड़ियों (kanwariyas) की अंतिम यात्रा निकली. ये अंतिम यात्रा शुक्रवार रात उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) में हादसे का शिकार हुए कावड़ियों की थी. अंतिम यात्रा में बहांगी […]