भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

मध्यप्रदेश को 5,315 करोड़ की सड़क परियोजनाओं की सौगात दी गडकरी ने

  • खराब सड़क पर माफी मांगी गडकरी ने, केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री ने पुराने कॉन्ट्रैक्ट को सस्पेंड कर नया निकालने के लिए कहा

जबलपुर/मंडला/भोपाल। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को मप्र को 5,315 करोड़ की विभिन्न सड़क परियोजनाओं की सौगात दी। इस अवसर पर प्रदेश में बनाई जा रही खराब सड़क पर गडकरी ने माफी मांगी। उन्होंने कहा कि अगर गलती है तो इसके लिए माफी भी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बरेला से मंडला तक 400 करोड़ रुपए की लागत से 63 किलोमीटर का टू लोन रोड बन रहा है, इससे संतुष्ट नहीं हूं। गडकरी मंडला में सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि सड़क का जितना काम बाकी है, उसे सस्पेंड कर दो। पुराने काम को रिपेयर करो। नया टेंडर निकालो। जल्दी ये रोड अच्छा और पूरा करके दो। अभी तक आपको जो तकलीफ हुई है, इसके लिए मैं क्षमा मांगता हूं। उन्होंने मंडला में 1261 करोड़ रुपए की लागत से 329 किमी लंबे 5 राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास किया। वे महाकौशल में 5,315 की लागत से बनने वाली 543 किलोमीटर की सड़कों का शिलान्यास और लोकार्पण करने आए हैं। 4054 करोड़ रुपए की सौगात देने वे मंडला से सीधे जबलपुर पहुंचे। इसमें 214 किमी लंबे 8 राष्ट्रीय राजमार्ग शामिल हैं।

तीन घंटे में होगा भोपाल से जबलपुर का सफर
केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने जबलपुर में सोमवार को 214 किलोमीटर लंबी 8 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास एवं भूमिपूजन किया। उनके साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल, लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, राज्यसभा सांसद सुमित्रा वाल्मीक उपस्थित थीं। इस मौके पर गडकरी ने कहा कि परियोजनाओं के बन जाने से पर्यटन के साथ नरसिंहपुर, जबलपुर, होशंगाबाद का तेजी से विकास होगा। सड़क बनने के बाद तीन घंटे में भोपाल से जबलपुर जा सकेंगे।


मप्र में बनेंगे 5 ग्रीन फील्ड हाईवे
जबलपुर में गडकरी ने कहा कि सेतु भारतम् के तहत 21 ब्रिज बनाए जाएंगे। कुछ महीने में काम शुरू होगा। मध्यप्रदेश में 50 हजार करोड़ की लागत से 5 ग्रीन फील्ड हाईवे बनाया जाएंगे। मैंने संकल्प लिया है कि मेरे कार्यकाल में प्रदेश में 6 लाख करोड़ के रोड बनाना है। इसके लिए पैसे नहीं, बल्कि इच्छाशक्ति चाहिए। उन्होंने कहा कि नागपुर से जबलपुर मेट्रो शुरू करने का प्लान है। उन्होंने लॉजिस्टिक पार्क बनाने को लेकर मंजूरी दी।

जबलपुर में 8 सड़क परियोजनाओं की शुरुआत
जबलपुर में 8 सड़क परियोजनाओं की शुरुआत हुई। इनमें 3,332 करोड़ की लागत से बनने वाली 7 सड़कों की आधारशिला रखी गई। एक सड़क का लोकार्पण हो रहा है। ये एनएचआई द्वारा नरसिंहपुर जिले में हिरण नदी से सिंधु नदी तक की फोरलेन सड़क है। इसकी लंबाई 53 किलोमीटर है। यह सड़क 722 करोड़ रुपए से बनेगी। इसके अलावा, जबलपुर से कुंडम, बरेला से मानेगांव, मानेगांव से राष्ट्रीय राजमार्ग, राष्ट्रीय राजमार्ग से कुश्नेर, कुश्नेर से अमझर और कुंडम से निवास सड़क समेत जबलपुर एलिवेटेड कॉरिडोर एक्सटेंशन का लोकार्पण किया गया।

इंडस्ट्रियल एरिया बनाएंगे: सीएम
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, 2003 के बाद लगभग 3 लाख किमी सड़कें मध्यप्रदेश की धरती पर बनाने का काम भाजपा की सरकार ने किया है। कबीर चौरा से लेकर डिंडोरी, मंडला, जबलपुर, संदलपुर, नसरुल्लागंज, ओबेदुल्लागंज, इंदौर, धार, सरदारपुर और झाबुआ तक नर्मदा एक्सप्रेस बनाया जाएगा। इसके दोनों तरफ हम इंडस्ट्रियल एरिया डेवलप करेंगे।

विकास के लिए रोड अच्छे होने चाहिए
गडकरी ने कहा कि विकास के लिए रोड अच्छे होने चाहिए। कान्हा राष्ट्रीय उद्यान पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। यहां की कनेक्टिविटी बेहतर की जाएगी। वनवासियों के लिए जो सामाजिक-आर्थिक-शैक्षणिक तौर पर पिछड़े हैं, उनका विकास करना राज्य एवं केंद्र सरकारों की प्राथमिकता है। इसके लिए रोड अच्छे बनने चाहिए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, गडकरी जी से मैंने कान्हा नेशनल पार्क को सीधे रोड से जोडऩे और नेशनल हाईवे बनाने का आग्रह किया है, ताकि हमारे यहां बड़ी संख्या में पर्यटक आएं और हमारे लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिल सके। गडकरी ने कहा कि सड़क परियोजनाएं मंडला को जबलपुर, डिंडौरी, बालाघाट जिलों से अच्छी तरह जोड़ेंगी। इन मार्गों के बनने से पचमढ़ी, भेड़ाघाट और अमरकंटक जैसे धार्मिक स्थलों के साथ-साथ जबलपुर से अमरकंटक होकर बिलासपुर, रायपुर और दुर्ग तक आवागमन सुगम होगा। उन्होंने कहा कि मंडला की प्राकृतिक सुंदरता और कान्हा नेशनल उद्यान हमेशा ही पर्यटकों को आकर्षित करते रहे हैं। इन सड़क परियोजनाओं के बनने से इस क्षेत्र और यहां के वनवासी समाज को बेहतर सुविधा मिलेगी।

Share:

Next Post

लोकायुक्त पुलिस की सख्ती से अफसरों में हडकंप

Tue Nov 8 , 2022
लोकायुक्त संगठन में जब से वरिष्ठ आईपीएस कैलाश मकवाना विशेष स्थापना पुलिस के महानिदेशक बने हैं, भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी आ गई है। मात्र 100 दिन में एक कलेक्टर (आईएएस) और एक आईएफएस अफसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो चुकी है। सात लाख की घूंस लेते अफसर रंगेहाथ धराया गया है। लोकायुक्त […]