जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

बारिश में भीगने से सेहत हो सकती है खराब, इन उपयों से पांए सर्दी-खांसी से छुटकारा


बारिश का मौसम (rainy season) लगभग सभी लोगो को पसंद होता है। लेकिन अपने साथ कई बीमारियों को साथ लाता है। ज़रा सा भीगने पर सर्दी-खांसी होने लगती है। मानसून में सीजन फ्लू, वायरल और कई तरह के इंफेक्शन भी होने लगते हैं।

बदलते मौसम बुखार, खांसी, जुकाम (cough, cold) और फ्लू जैसी बीमारियां सबसे ज्यादा होती हैं। दरअसल इसके पीछे की एक बड़ी वजह है कि इस मौसम में रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) बहुत कम हो जाती है। जिससे शरीर जल्दी बीमारियों की चपेट में आ जाता है। खासतौर से बच्चे और बुजुर्ग सबसे ज्यादा इस मौसम में बीमार पड़ते हैं। हालांकि डाइट में कुछ खास चीजों का एहतियात बरता जाए तो काफी हद तक बीमारियों (diseases) से बचा जा सकता है। आज हम आपको साधारण फ्लू या सर्दी खांसी से बचने के उपाय बता रहे हैं। जानते हैं क्या हैं घरेलू नुस्खे…..

बारिश में सर्दी-खांसी और सीजनल फ्लू से कैसे करें बचाव
अगर आप बारिश में भी गए हैं और आपको जुकाम खांसी की समस्या हो गई है। तो भाप जरूर लें। भाप लेने से बंद नाक खुलेगी और सांस नली की सूजन भी कम होगी। आप चाहें तो नॉर्मल पानी से भाप लें सकते हैं या फिर थोड़ा टी ट्री ऑयल, यूकेलिप्टस ऑयल, लेमनग्रास ऑयल, लौंग का तेल डालकर भी भाप ले सकते हैं।

सर्दी खांसी की समस्या होने पर लौंग का सेवन करें। आप चाहें तो लौंग को पीसकर शहद में मिलाकर दिन में 2-3 बार खा लें। इससे खांसी में काफी आराम मिलेगा।

बारिश में भीगने के बाद आपको तुरंत एक कप तुलसी-अदरक (basil-ginger) वाली चाय पीनी चाहिए। इससे शरीर में गर्माहत आती है और खांसी जुकाम में भी तुलसी अदरक की चाय पीने से आराम मिलता है। आप चाहें तो चाय में चीनी की जगह गुड़ भी डाल सकते हैं।


किसी भी बीमारी से बचने के लिए आपकी इम्‍युनिटी मजबूत होनी चाहिए। अगर आप बारिश के मौसम में अपनी डाइट का ध्यान रखेंगे तो जल्दी बीमार नहीं होंगे। साथ ही आपको अपने खान-पान में थोड़े बदलाव करने की जरूरत है।

सबसे पहले आपको सर्दी खांसी से बचने के लिए रोज हल्दी वाला दूध पीने की आदत बना लेनी चाहिए। हल्दी का दूध तासीर में गर्म होता है और इसमें एंटीबायोटिक तत्व (antibiotic element) होते हैं। इसीलिए इसे सर्दियों में ज्यादा पीया जाता है। लेकिन आजकल कोरोना वायरस और वायरल फ्लू से बचने के लिए आप रोजाना रात में सोने से पहले एक ग्लास हल्दी वाला दूध जरूर पिएं। हल्दी वाला दूध पीने से सर्दी- खांसी भी दूर रहेगी।

बदलते मौसम में खासतौर से बारिश और ठंड में आपको च्वनप्राश भी खाना चाहिए। आयुर्वेद में च्वनप्राश को एक औषधि माना जाता है जो आपको कई तरह के इनफेक्शन (infection) से बचाता है। आप रोज रात को दूध से एक चम्मच च्वनप्राश खाने की कोशिश करें। इससे आपको सर्दी-खांसी की समस्या नहीं होगी। साथ ही इम्यूनिटी भी मजबूत होगी।

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य सूचना उद्देश्‍य के लिए है इन्‍हें किसी चिकित्‍सक के रूप में न समझें। हम इसकी सत्‍यता की जांच का दावा नही करतें कोई भी सवाल या परेशानी हो तो विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें ।

Share:

Next Post

उत्तर प्रदेश में प्रति हेक्टेयर गन्ना उत्पादन बढ़ा

Wed Jul 28 , 2021
लखनऊ । उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) ने गन्ने (Sugarcane) की खेती के साथ एक और ऊंचाई हासिल की है। एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार 2020-21 में गन्ने का औसत उत्पादन (Production) 815 क्विंटल प्रति हेक्टेयर (815 quintals per hectare) तक पहुंच गया। पिछले वित्तीय वर्ष में गन्ने का औसत उत्पादन 811 क्विंटल प्रति हेक्टेयर था। […]