व्‍यापार

बड़ी खुशखबरी: कोरोना काल में भी भारत का निर्यात 67.39 फीसदी बढ़ा

 

नई दिल्ली । केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक मई 2021 के दौरान भारत (India) का निर्यात 67.39 फीसदी बढ़ गया है. मई में कुल 32.21 अरब अमेरिकी डॉलर का एक्सपोर्ट दर्ज किया गया है. वाणिज्य मंत्रालय के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक मई में पेट्रोलियम उत्पादों, इंजीनियरिंग और रत्न एवं आभूषण के एक्सपोर्ट (Export) में ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिली है. एक ओर जहां एक्सपोर्ट में बढ़ोतरी दर्ज की गई है वहीं दूसरी ओर मई (May) में व्यापार घाटा बढ़कर 6.32 अरब डालर के स्तर पर पहुंच गया है. बता दें कि मई 2020 के दौरान 19.24 अरब अमेरिकी डॉलर का एक्सपोर्ट दर्ज किया गया था. वहीं मई 2019 में 29.85 अरब अमेरिकी डालर का एक्सपोर्ट हुआ था. 

मई में आयात 68.54 फीसदी बढ़कर 38.53 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंचा

आंकड़ों के मुताबिक मई 2021 में इंपोर्ट के मोर्चे पर भी अच्छी बढ़ोतरी दर्ज की गई है और इस दौरान आयात 68.54 फीसदी बढ़कर 38.53 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है. बता दें कि मई 2020 में 22.86 अरब डॉलर और मई 2019 में 46.68 अरब डॉलर का इंपोर्ट दर्ज किया गया था. मंत्रालय का कहना है कि मई 2021 में 6.32 अरब अमेरिकी डालर के व्यापार घाटे के साथ शुद्ध इंपोर्टर रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मई 2020 के दौरान 3.62 अरब डॉलर का व्यापार घाटा हुआ था. मई 2020 की तुलना में व्यापार घाटे में 74.69 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी.


आंकड़ों के मुताबिक मई महीने में ऑयल इंपोर्ट (oil import) बढ़कर 9.45 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया है. वहीं दूसरी मई 2020 की बात करें तो यह आंकड़ा 3.57 अरब अमेरिकी डॉलर का था. भारतीय व्यापार संवर्धन परिषद (TPCI) के संस्थापक अध्यक्ष मोहित सिंगला का कहना है कि परिवहन उपकरण, लोहा, इस्पात और अखबारी कागज के इंपोर्ट में कमी आना आत्मनिर्भरता की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.

Share:

Next Post

पृथ्वी को प्रदूषण मुक्त बनाने का संकल्प ले

Fri Jun 4 , 2021
(5 जून विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष) रमेश सर्राफ हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगों को विभिन्न कार्यक्रमों के जरिये प्रकृति को संरक्षित रखने और इससे खिलवाड़ न करने के लिए जागरूक किया जाता हैं। इन कार्यक्रमों के जरिये लोगों को पेड़-पौधे लगाने, पेड़ों को संरक्षित करने, […]