विदेश

सेक्स के लिए पति करता है पत्‍नी पर ज्‍यादती, तलाक के लिए महिला पहुंची कोर्ट

इबदान। एक महिला (Woman) अपने पति(Husband) की हरकतों से इतना परेशान हो गई कि उसे कोर्ट (Court) की ओर रुख करना पड़ा. दोनों की शादी (Marriage) को 14 साल हो चुके हैं. तीन बच्‍चे (3 Child) भी हैं. महिला पति से तलाक चाहती (woman wants divorce from husband) है. ये मामला नाइजीरिया (Nigeria) का है. महिला ने आरोप लगाया कि पति के ज्‍यादा सेक्‍स की आदत उसकी जान ले लेगी.
Premium Times Nigeria के मुताबिक, महिला का नाम ओलमिड लवाल (Olamide Lawal) है. उसने अपने पति के खिलाफ 7 जनवरी को मोपो, इबदान (Mopo, Ibadan) में मौजूद कस्‍टमरी कोर्ट का रुख किया है. जहां उसने कोर्ट से पति से तलाक की मांग की है.


याचिकाकर्ता महिला के पति का नाम सहीद लवाल (Saheed Lawal) है. दरअसल, महिला का कहना है कि उसका पति उसके साथ बहुत ज्‍यादा सेक्‍स करता है. इस कारण उसको तलाक चाहिए.
महिला ने कोर्ट में दायर याचिका में ये भी आरोप लगाया कि पति शराब भी पीता है. महिला ने कोर्ट में कहा था, ‘शादी को 14 साल बीत चुके हैं, लेकिन पति में मानवता नाम की चीज नहीं है.’ महिला ने ये भी आरोप लगाया कि वह हमेशा बीयर ही पीता रहता है. नशे में होने पर उसके साथ जबरदस्‍ती करता है. इस सबसे वह परेशान हो चुकी है.
महिला ने कोर्ट से अपील की है कि वह उसके पति के उसके फ्लैट पर आने पर रोक लगा दें. वहीं महिला ने कोर्ट के सामने ये भी कहा कि आरोपी पति उसको खर्चा भी नहीं देता है. वहीं पेशे से फैशन डिजायनर आरोपी पति सहीद लवाल (Saheed Lawal) ने अपने बचाव में कहा, ‘अब मैंने शराब पीना छोड़ दिया है, मैं अपने बच्‍चों की देखभाल करने के लिए तैयार हूं.’ इस मामले में कोर्ट के प्रेसिडेंट S.M. Akintayo ने इस मामले को फिलहाल 1 मार्च तक के लिए टाल दिया है. उन्‍होंने कपल से कहा दोनों शांति बनाकर रखें.

Share:

Next Post

घर बनाने के लिए पैसे मांगना भी दहेज की मांग, देश का सबसे बड़ा न्‍यायालय कैसे देखता है इसे, जानिए...

Wed Jan 12 , 2022
  नई दिल्‍ली । सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने घर के निर्माण के लिए पैसे की मांग को भी दहेज (Dowry Crime) बताते हुए अपराध माना है। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एनवी रमण (Chief Justice Justice NV Ramana) , जस्टिस एएस बोपन्ना (Justice AS Bopanna) और जस्टिस हिमा कोहली ( Justice Hima Kohli) की पीठ ने […]