आचंलिक

10 दिन में नहीं सुधरी व्यवस्था तो धरना तो देंगे धरना

  • विधायक ने धरने पर बैठने की दी चेतावनी, रात 1:00 बजे अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे विधायक उमाकांत शर्मा

सिरोंज। शासकीय राजीव गांधी जन चिकित्सालय कि व्यवस्थाओं में परिवर्तन नहीं होने के कारण मरीजों को अव्यवस्थाओं का सामना करना पड़ता है, ड्यूटी डॉक्टर हमेशा अस्पताल से नदारत रहते हैं सफाई के नाम पर भी गंदगी फैली हुई है, सरकार की सुविधाओं का लाभ देने के बदले में खुलेआम वसूली होती है, परसोत्तम परसोत्तमसूत्रों के परिजनों से डिलीवरी के नाम पर अवैध वसूली का काम भी बखूबी चल रहा है कई बार शिकायतें सामने आ चुकी है फिर भी वसूली पर रोक नहीं लग पा रही है विधायक पहले भी कई बार अस्पताल का निरीक्षण करके संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दे चुके हैं फिर भी परिवर्तन नहीं हो रहा है इससे नाराज विधायक ने इस सुधार नहीं होने पर सत्ताधारी दल से होने के बाद भी खुलेआम जनता के हित में धरने पर बैठने की चेतावनी दी है ।अब देखना है कि चेतावनी का कितना असर जिम्मेदार अधिकारियों पर होगा और अस्पताल में आने वाले मरीजों को बेहतर सुविधा मिल पाएगी या फिर इसी तरह अवस्थाओं के बीच अस्पताल संचालन होता रहेगा।


विधायक की चेतावनी के बाद हो सकती है कार्रवाई
विधायक श्री शर्मा की तल्खी के बाद जिला स्वास्थ्य अधिकारी ड्यूटी पर नहीं मिलने वाली डॉक्टर पर कार्रवाई कर सकते हैं एवं व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए सख्त कदम उठा सकते हैं क्योंकि रात्रि में जब विधायक अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे उस समय ड्यूटी डॉक्टर अपने घर पर सौ रहे थे। विधायक ने ड्यूटी डॉक्टर का दरवाजा खटखटा फोन भी लगाया फिर भी नही उठी मरीज उनको तलाशते रहते हैं पर उनकी कोई सुनने वाला मौजूद नहीं रहता है शनिवार की रात्रि में 1:00 बजे क्षेत्रीय विधायक उमाकांत शर्मा ,नगर पालिक अध्यक्ष मनोज साहू ,उपाध्यक्ष मनोज साईनाथ एवं सीएमओ प्रदीप भदोरिया के साथ अस्पताल के जनरल वार्ड में मरीज भर्ती थे पर उनकी देखरेख करने वाला कोई डॉक्टर मौजूद नहीं था बेड पर बेडशीट भी नहीं थी डिलीवरी कक्ष में कई महिलाएं भर्ती थी पर उनकी देखरेख करने के लिए भी ड्यूटी पर डॉक्टर मौजूद नहीं मिले , साफ सफाई के हाल भी बुरे थे । विधायक ने फिर अस्पताल प्रभारी डॉ अमित भेदिया को बुलाया इनसे विधायक ने सवाल जवाब किए तो वह अपनी बगले झांकते हुए नजर आए उनके पास विधायक के सवाल का कोई जवाब नहीं था। इसके बाद विधायक ने जिला चिकित्सालय अधिकारी को संबोधित करते हुए कहा कि 10 दिन के अंदर शासकीय अस्पताल में फैली अव्यवस्थाओं में परिवर्तन नहीं हुआ तो मैं सत्ताधारी दल का विधायक होने के बाद भी जनता के हित में धरने पर बैठग इसीलिए 10 दिन के अंदर जो भी कमियां हैं उनको ठीक किया जाए अस्पताल में आने वाले मरीजों को किसी भी तरह की अव्यवस्था का सामना ना करना पड़े। ड्यूटी डॉक्टर पूरे समय अस्पताल में मौजूद रहे मरीजों से अच्छा व्यवहार हो सरकार की सुविधाओं का लाभ मिले गंदगी का आलम अस्पताल में लगा हुआ है।

इनका कहना है
जो भी कमियां मिली है उनको ठीक किया जाएगा ड्यूटी पर नहीं मिलने वाले डॉक्टर को नोटिस जारी करके जवाब मांगेंगे।
डॉ. अमित भेदिया, अस्पताल प्रभारी

Share:

Next Post

केन्द्रीय नागरिक ज्योतिरादित्य सिंधिया पहुंचे पीडि़तों के दरवाजे

Mon Aug 29 , 2022
रशीद कालोनी पहुंच बंधाया ढांढस, हर संभव मदद का वायदा प्रभारी कलेक्टर ने केंद्रीय मंत्री को दिया मदद, आंकलन का ब्यौरा मंत्री सिसौदिया, सिलावट सहित सांसद के.पी रहे मौजूद गुना। विगत दिनों गुना जिले में हुयी अतिवर्षा के कारण हुई जनहानि, पशुहानि से प्रभवित हुए लोगों से मिलने रसीद कालोनी केन्द्रीय, नागरिक उड्डयन एवं इस्पात […]