जीवनशैली धर्म-ज्‍योतिष

भगवान शिव को की पाना चाहते हैं कृपा तो सोमवार के दिन इन मंत्रों का करें जाप

नई दिल्‍ली। आज का दिन सोमवार (Monday) है और इस भगवान शिव की विशेष रूप से पूजा-अर्चना की जाती है। हिंदू धर्म में भगवान शिव (Lord Shiva) को सभी देवी देवताओं में सबसे बड़ा माना जाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि भगवान शिव ही दुनिया को चलाते हैं। वह जितने भोले हैं उतने ही गुस्‍सै वाले भी हैं। शास्‍त्रों(Shastras) के मुताबिक सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है। शिव जी को प्रसन्‍न करने के लिए लोग व्रत करते हैं। सोमवार को इन मंत्रों के जप से भगवान शिव (Lord Shiva) अपने भक्तों को जीवन मरण के चक्र से मुक्त कर देते हैं क्योंकि शिव सृष्टि के संहारक भी हैं और पालक भी। भगवान शिव ही सृष्टि का संचालन करते हैं। आइए जानते हैं इन पांच शक्तिशाली मंत्रों के बारे में।

ओम त्र्यंबकम याजमाहे सुगंधिम पुष्ठी वर्धनम
उर्वारुकैमिवा बंधनाथ श्रीमती सुब्रमण्यम
शिवपुराण (shivpuran) में महामृत्युंजय मंत्र का जप करने का विशेष महत्व बताया गया है। इस मंत्र के जप से संसार के सभी कष्टों से मुक्ति मिल जाती है और सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। साथ ही इसका जप करने से मृत्यु के भय और जीवन-मरण के चक्र से मुक्ति मिलती है।

करारचंद्रम वैका कायाजम कर्मगम वी
श्रवणनजम वा मनामम वैद परामहम
विहितम विहिताम वीए सर मेट मेटाट
क्षासव जे जे करुणाबधे श्री महादेव शंभो
सोमवार को इस मंत्र का जप करना विशेष फलदायी माना गया है। सावन में हर रोज इस मंत्र का जप करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है और भगवान शिव भी प्रसन्न होते हैं। इस मंत्र के जप से आत्मा की शुद्धि होती है और नकारात्मक शक्तियां दूर रहती हैं।

ओम नमः शिवाय


यह बहुत प्रचलित शिव मंत्र है। इस मंत्र का मतलब है, ‘मैं भगवान शिव को नमन करता हूं’। सोमवार के दिन इस मंत्र का 108 बार जप करने से आत्मा पवित्र होती है और भगवान शिव की कृपा मिलती है। साथ ही धन की प्राप्ति होती है और शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है।

शिव तांडव स्तोत्र
शिवपुराण के अनुसार, जो व्यक्ति सोमवार के दिन शिव तांडव स्तोत्र का जप करता है, उसे भोलेनाथ का आशीर्वाद प्राप्त होता है। किसी प्रकार की तंत्र, मंत्र और शत्रु परेशान कर रहा है तो शिव तांडव स्तोत्र आपके लिए काफी लाभदायक होगा। इसका पाठ करने से जीवन में विशेष उपलब्धियां प्राप्त होती हैं और हर क्षेत्र में कामयाबी मिलती है।

ओम तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात
यह बहुत शिव गायत्री मंत्र बहुत शक्तिशाली मंत्र बताया जाता है। सोमवार को इस मंत्र का जप करने से सभी समस्याएं दूर होती हैं। यह मंत्र भगवान शिव के सभी रूपों की पूजा के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस मंत्र के जप से भोलेनाथ की कृपा बनी रहती है और सभी तरह के रोग भी दूर रहते हैं।

नोट– उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

Share:

Next Post

होमगार्ड का 75वां स्थाना दिवस मना, आज सुबह हुआ कार्यक्रम

Mon Dec 6 , 2021
संभागायुक्त ने ली परेड सलामी-प्रधानमंत्री के संदेश का वाचन हुआ उज्जैन। नागझिरी स्थित होमगार्ड कार्यालय परिसर में आज होमगार्ड नागरिक सुरक्षा तथा एसडीआरएफ 75वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर आकर्षक परेड निकली। परेड की सलामी लेने के लिए संभागायुक्त पहुँचे। इस दौरान प्रधानमंत्री के संदेश का वाचन भी किया गया। उल्लेखनीय है कि […]