इंदौर न्यूज़ (Indore News)

सरकारी योजनाओं के साथ इंदौरी जनता से जुड़े मुद्दे रहेंगे मेरी प्राथमिकता

नवागत कलेक्टर इलैया राजा की रुचि यातायात सुधार और नवाचार करने में भी, आज दोपहर जिले के मुखिया के रूप में संभालेंगे कमान

इंदौर, राजेश ज्वेल। जिले के मुखिया यानी नवागत कलेक्टर इलैया राजा (Collector Ilaiya Raja) आज दोपहर कमान संभाल लेंगे। 2009 की बैच के आईएएस श्री राजा अभी जबलपुर कलेक्टर के पद पर रहे और इसके पूर्व भिंड में भी उन्होंने दमदारी से कलेक्टरी की। यातायात सुधार के साथ नवाचार में भी उनकी रुचि रहेगी। साथ ही शासन की योजनाओं का लाभ वंचितों तक पहुंचाने और इंदौर की जनता की जो प्राथमिकताएं हैं उसी के मुताबिक उन्होंने काम करने की इच्छा जाहिर की है।


अग्निबाण से अनौपचारिक चर्चा करते हुए नवागत कलेक्टर इलैया राजा टी का कहना है कि स्वच्छता के मामले में इंदौर का देशभर में नाम है और इसमें भी निगम को पूरा सहयोग दिया जाएगा। अतिक्रमण से लेकर यातायात की समस्या भी इंदौर में बहुत है, उसे भी वे प्राथमिकता से दूर करेंगे स्मार्ट सिटी, शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ-साथ शासन की योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक हितग्राहियों को मिल सके इसके भी पूरे प्रयास रहेंगे। इंदौर में 31 माह तक कलेक्टर के रूप में मनीष सिंह ने जोरदार काम किया है और अब उनकी जगह जबलपुर में पदस्थ रहे इलैया राजा टी को इंदौर जिले की कमान सौंपी गई है। चूंकि आज से ही मतदाता सूची के पुनरीक्षण का काम शुरू हो रहा है, लिहाजा जिन कलेक्टरों के तबादले शासन ने किए हैं उन्हें तुरंत ही ज्वाइन करने को भी कहा गया है। आज दोपहर इंदौर कलेक्टर के रूप में इलैया राजा टी भी अपना कार्यभार संभाल लेंगे। वे रीवा, भिंड, जबलपुर के कलेक्टर रह चुके हैं और उनसे जुड़े लोगों का कहना है कि ईमानदारी के साथ नए प्रयोग करने में भी उनकी रुचि रहती हैं। यह भी उल्लेखनीय है कि कमलनाथ सरकार में भी उपसचिव के पद पर वे कार्य कर चुके हैं और इंदौर में इसके पूर्व भी दक्षिण भारत की पृष्ठभूमि से जुड़े कलेक्टर रह चुके हैं। उसी कड़ी में 2009 की बैच के डायरेक्ट आईएएस डॉ. इलैया राजा की पोस्टिंग की गई है। तमिलनाडु के रहने वाले इलैया राजा ने वेटेनरी की पढ़ाई की और उसके बाद आईएएस एग्जाम पास की। जिला पंचायत सीईओ राजगढ़, मंडला एसडीओ, सिवनी में अपर कलेक्टर के बाद उन्होंने तीन जिलों में कलेक्टरी भी की है और भिंड में उनके किए गए प्रयोग जनता ने काफी पसंद किए। अवैध उत्खनन और अतिक्रमणों के खिलाफ उन्होंने सख्त कार्रवाई भी की। इंदौर में भी हर तरह के माफिया रहे हैं, जिन पर नकेल पूर्व कलेक्टर मनीष सिंह ने बखूबी कसी। अब उसे आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी नवागत कलेक्टर की रहेगी।

मुख्यमंत्री के साथ भोपाल के आला अफसरों की पसंद रहे

इंदौर कलेक्टर के रूप में डॉ. इलैया राजा का नाम चौंकाने वाला भी रहा, क्योंकि उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह की पदस्थापना की चर्चा लगातार चलती रही थी। मगर सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री की व्यक्तिगत पसंद के साथ भोपाल के आला अफसरों ने भी इलैया राजा के नाम पर सहमति दी। हालांकि इंदौर में उनकी पोस्टिंग पहले कभी नहीं रही और लिहाजा कुछ समय अभी उन्हें इंदौर की कार्यप्रणाली को समझने में भी लगेगा। मुख्य सचिव से लेकर अन्य अधिकारियों ने जब 3-4 नाम ों पर चर्चा की तो अंतिम रूप से डॉ. इलैया राजा पर ही सहमति बनी। अब कुछ बचे कलेक्टरों के तबादले जनवरी-फरवरी में होंगे।

 

 

Share:

Next Post

कल मुंबई में शिवराज दिग्गज उद्योगपतियों से करेंगे वन-टू-वन चर्चा, रोड शो भी

Wed Nov 9 , 2022
जनवरी में आयोजित होने वाली इंदौरी समिट का न्योता भी देंगे, रिलायंस, टाटा, महिन्द्रा सहित दिग्गज फार्मा कम्पनियों के प्रतिनिधियों से भी होगी निवेश पर चर्चा इंदौर।  अभी 5 नवम्बर को अग्निबाण ने ही यह खबर प्रकाशित की थी कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान मुंबई जाकर दिग्गज उद्योगपतियों-निवेशकों से मुलाकात करेंगे। इंदौर में जनवरी माह में […]