इंदौर न्यूज़ (Indore News)

इंदौर में निगम, पुलिस और जिला प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई, गुंडों के मकानों पर धावे, दो मकान तोड़े

इन्दौर। कई दिनों से बंद पड़ी गुंडों के खिलाफ कार्रवाई की फिर शुरुआत करते हुए आज सुबह पुलिस के अफसरों और नगर निगम के अधिकारियों ने भाग्यश्री कालोनी और रामकृष्ण बाग में दो गुंडों के मकान ढहा दिए। इनमें से एक गुंडा अपने बेटे के साथ शहर में आतंक बरपाए हुए था तो दूसरे ने पूरे इलाके में अपना खौफ बना रखा था। गुंडों के खिलाफ की गई इस कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में जहां पुलिस बल तैनात किया गया था, वहीं निगम का महिला रिमूव्हल दस्ता भी मौजूद था।

बाप-बेटे की गुंडागर्दी पर पोकलेन चली…दो मंजिला जमींदोज
भाग्यश्री कालोनी में रहने वाले पिता-पुत्र दोनों ही अपराध में लिप्त थे। निगम ने पुलिस और प्रशासन के अफसरों की मौजूदगी में उक्त गुंडों का दो मंजिला मकान ढहा दिया। हालांकि गुंडों को इसकी भनक लग गई थी और दो दिन पहले ही वहां से सारा सामान हटा लिया गया था। इसी प्रकार रामकृष्णबाग में भी एक गुंडे के हजार स्क्वेयर फीट के मकान को भारी पुलिस बल के साए में तोडऩे की कार्रवाई निगम के रिमूवल अमले द्वारा की गई।

रामकृष्णबाग में भी अपराधों में लिप्त गुंडे का मकान तोड़ा
कल रात को ही पुलिस और निगम के आला अधिकारियों के बीच कार्रवाई को लेकर रणनीति तैयार हो गई थी। आज सुबह 7.30 बजे नगर निगम मुख्यालय पर रिमूवल अमला जमा हो गया था। वहां से अधिकारियों के निर्देश मिलते ही निगम की टीम हीरानगर थाने और खजराना थाने पर पहुंच गई। इसके बाद दोनों ही स्थानों पर गुंडों के मकानों को तोडऩे की कार्रवाई शुरू कर दी गई थी। नगर निगम अधिकारियों के मुताबकि सबसे पहली कार्रवाई श्याम नगर एनेक्स के समीप बनी भाग्यश्री कालोनी में की गई। यहां अपराधी प्रकाश उज्जैनी और उसके बेटे प्रथम उज्जैनी के दो मंजिला मकान पर कार्रवाई शुरू की गई। यहां पहले से निगम और पुलिस विभाग के नोटिस मकान पर चस्पा थे और उसे मकान पर कार्रवाई की जानकारी दी गई थी, जिसके चलते दो दिन पहले ही परिवार के लोगों ने वहां से अपना सारा सामान शिफ्ट कर लिया था। आज जब नगर निगम टीम कार्रवाई करने पहुंची तो मकान पर कोई नहीं मिला।


तंग गलियों के कारण पोकलेन की मदद से मकान तोडऩे में मुश्किलें आईं, फिर भी अधिकारियों ने सूझबूझ से मकान को ढहाने की कार्रवाई कर दी। कुछ दिनों पहले ही एमआर-10 क्षेत्र में किसी यादव की हत्या के मामले में भी प्रथम उज्जैनी के खिलाफ हीरानगर पुलिस ने केस दर्ज किया था। पिता-पुत्र पर हीरानगर थाने में कई आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। इसके अलावा खजराना थाने के अंतर्गत रामकृष्णबाग कालोनी में रहने वाले गुंडे भीम यादव के मकान पर निगम का रिमूवल अमला पहुंचा। अधिकारियों के मुताबिक वहां हजार स्क्वेयर फीट से ज्यादा का मकान बना हुआ था, जिसे जेसीबी और पोकलेन की मदद से तोडऩे की कार्रवाई शुरू की गई। कार्रवाई देखने के लिए बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई थी, जिसके चलते पुलिसकर्मियों ने उन्हें हटाया और कई गलियां बंद कर कार्रवाई शुरू की जा सकी। भीम यादव पर भी खजराना थाने सहित कई अन्य थानों में आपराधिक मामले दर्ज हैं।

एमआर-10 पर हुई हत्या में भी आरोपी रहा है प्रथम उज्जैनी
पिछले दिनों एमआर-10 क्षेत्र में एक युवक की हत्या के मामले में प्रथम पिता प्रकाश उज्जैनी के खिलाफ हीरानगर पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज किया था। इसके अलावा पिता-पुत्र पर कई थानों में आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक प्रथम पर सबसे ज्यादा केस दर्ज हैं और उसने अपने साथियों के साथ कई वारदातों को भी अंजाम दिया है।

गुंडे के मकान का मलबा पड़ोसी के यहां गिरा, महिलाएं घबराते हुए अफसरों के पास पहुुंचीं
भाग्यश्री कालोनी की तंग गलियों में पहले तो बमुश्किल पोकलेन अंदर भेजी जा सकी, लेकिन वहां कार्रवाई के दौरान बार-बार कई दिक्कतें आ रही थीं। गुंडे के मकान से सटे कई मकानों पर मलबा गिर रहा था। उज्जैनी के मकान के समीप रहने वाले सोनी परिवार की महिलाएं अपने मकान पर मलबा गिरने और उसके क्षतिग्रस्त होने के डर से घबराकर अधिकारियों के पास पहुंचीं और चर्चा करने लगीं तो अधिकारियों ने उन्हें आश्वस्त किया कि चिंता न करें। उनके मकान का हिस्सा क्षतिग्रस्त होता है तो निगम अपने स्तर पर उसका सुधार कार्य पूरा करा देगा। इसके बाद परिजन चुपचाप कार्रवाई देखते रहे।

Share:

Next Post

इंदौर-भोपाल में धारा 16 के प्रावधान यथावत, देवास-पीथमपुर सहित अन्य शहरों के लिए किया संशोधन

Tue Jul 4 , 2023
संचालनालय नगर तथा ग्राम निवेश ने जारी किए महत्वपूर्ण आदेश, पहले एक समान नियम लागू कर देने से छोटे शहरों और निगमों में आ रही थीं व्यावहारिक परेशानियां इंदौर। आगामी मास्टर प्लान (master plan) के लागू ना होने तक शासन ने वृद्धि निवेश क्षेत्र के लिए धारा 16 के प्रावधान इंदौर-भोपाल सहित अन्य शहरों के […]