इंदौर न्यूज़ (Indore News)

पांच दिन बाद पिंजरे में फंसा तेंदुआ

इंदौर। धार जिले (Dhar District) के अमझेरा (Amjhera) में एक ढाई साल की बच्ची का शिकार करने वाले तेंदुए (Leopard) को पकडऩे इंदौर (Indore) से गई रेस्क्यू टीम (Rescue Team) को 5 दिनों बाद सफलता मिल पाई। रेस्क्यू टीम (Rescue Team) के प्रभारी राजाराम कल्याणे (RajaRam Kalyane) ने बताया कि 5 दिनों तक टीम ने 2 पिंजरे लगाकर उनमें बकरी रखी और दिन-रात सतत निगरानी की, जिसके बाद तेंदुआ (Leopard) पकड़ा गया। कल रात 1 बजे उसे इंदौर (Indore) के चिडिय़ाघर (ZOO) लाया गया।
उल्लेखनीय है कि धार जिले के अमझेरा क्षेत्र (Amjhera Area) के ग्राम कड़दा में तेंदुए (Leopard) ने ढाई वर्ष की वर्षा पिता प्रेम पर हमला कर दिया था। बच्ची के परिजन उस समय खेत में काम कर रहे थे, तभी झाडिय़ों में छिपा तेंदुआ (Leopard) बाहर निकला और बच्ची को मुंह में दबाकर झाडिय़ों के अंदर ले गया। इत्तेफाक से बच्ची के पिता ने देख लिया। परिजन हाथों में पत्थर और डंडे लेकर झाडिय़ों की तरफ दौड़े, तब जाकर तेंदुआ (Leopard) बच्ची को वहीं छोडक़र भाग गया। बाद में परिजन बच्ची को अमझेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए, जहां मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर एके चौधरी (AK Chaudhary) द्वारा बच्ची के गले में टांके लगाकर तुरंत धार रैफर किया गया। डॉक्टर चौधरी ने बताया कि बच्ची के गले में तेंदुए (Leopard) के दांतों के निशान हैं तथा छाती पर भी पंजे के निशान हैं। उसका प्राथमिक उपचार कर धार रैफर कर दिया गया, लेकिन जख्म ज्यादा होने के कारण शाम को बच्ची की मौत हो गई।


Share:

Next Post

शानदार कैमरा और दमदार फीचर्स से लैस हैं ये 5 बेस्‍ट स्‍मार्टफोन, बजट में भी हो जाएंगे आराम से फिट

Sun Oct 17 , 2021
आप भी कम कीमत में दमदार फीचर्स से लैस स्‍मार्टफोन खरीदनें का सोंच रहें है तो यह खबर आपके लिए अच्‍छी साबित हो सकती है. फोटोग्राफी के लिए कई लोग अब स्मार्टफोन ही पसंद करते हैं. इसके लिए मार्केट में कई ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. यहां पर आपको 50-मेगापिक्सल कैमरा के साथ आने वाले 5 टॉप […]