भोपाल

40% लोगों पर बेअसर रहीं जीवन रक्षक दवाएं

  • एंटीबायोटिक पॉलिसी आने से पहले सामने आए चौकाने वाले आंकड़े

भोपाल। सरकार एंटीबायोटिक पॉलिसी (Antibiotic Policy) ला रही है, ताकि एंटीबायोटिक के दुष्परिणामों के प्रति जागरूक करने, डॉक्टरों को बेवजह एंटीबायोटिक लिखने से रोका जाए और लोगों को मर्जी से इसे लेने से रोका जाए। लेकिन इससे पहले कुछ चौकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। प्रदेश के अस्पतालों से मिले आंकड़ों के अनुसार 30 से 40 फीसदी लोग ऐसे हैं जिन पर जीवन रक्षक
(Life-saving) दवाओं का असर नहीं पड़ता है। चिकित्सकों के अनुसार दुकान पर जाकर सीधे एंटीबायोटिक लेने, ट्रीटमेंट पूरा नहीं लेने जैसी आम आदतों के कारण जीवन रक्षक दवाओं का असर तेजी से कम हो रहा है।

प्रदेश में 30-40 फीसदी लोग ऐसे हैं, जिन पर अब किसी तरह की एंटीबायोटिक असर नहीं कर रही हैं। वहीं कुछ दवाएं ऐसी हैं, जो 90 प्रतिशत लोगों पर असर नहीं कर रही हैं। मेदांता अस्पताल के माइक्रो बायोलॉजिस्ट डॉ. कमलेश पटेल कहते हैं कि बैक्टीरिया अब दवाइयों को चकमा दे रहे हैं। 100 से ज्यादा एंटीबायोटिक दवाइयां हैं। सभी का रजिस्टेंस देखा जा रहा है। कुछ दवाइयां ऐसी हैं कि यदि सौ मरीजों के सैंपल्स की जांच की जा रही है तो बमुश्किल 5 से 6 मरीजों में ही असर दिखा रही है।

पोल्ट्री में उपयोग बहुत नुकसानदेह
डॉ. शुक्ला बताते हैं कि जिस बीमारी में जो दवा कारगर है, वहीं मरीज को दी जाना चाहिए। पोल्ट्री फॉर्म में कोलिस्टिन दवा दी जा रही थी। अंडा या चिकन खाने के साथ इंसान के शरीर में भी दवा थोड़ी मात्रा में पहुंच रही थी। वेटेरनरी में एरिथ्रोमाइसिन का उपयोग बहुत ज्यादा करते थे। वह भी अब रजिस्टेंस बता रही है।

सामान्य बीमारी में हैवी एंटीबायोटिक
राज्य नोडल अधिकारी डॉ. पंकज शुक्ला का कहना है कि लोग सामान्य बुखार में हैवी एंटीबायोटिक दे रहे हैं। दुष्परिणाम यह होगा कि इन दवाओं का असर कम हो जाएगा। 2007 से नई एंटी बॉयोटिक नहीं आई है। जिस तरह कोविड वायरस खुद को बचाने के लिए म्युटेशन कर रहा था, उसी तरह बैक्टीरियां भी कर लेता है और ड्रग रजिस्टेंस हो जाता है। लोग मन से मेडिकल स्टोर से बेरोकटोक ये दवाइयां ले आते हैं। अप्रशिक्षित लोग ग्रामीण इलाकों ये दवाएंं धड़ल्ले से देते हैं। पूरा इलाज नहीं लेने पर सारे बैक्टिरिया नहीं मरते और रेजिस्टेंट हो जाते हैं।

Share:

Next Post

फिर हुई बड़ी वारदात: दो बदमाशों ने युवक पर अड़ीबाजी की,रकम नहीं देने पर हाथ पर चाकू मारा

Mon Oct 11 , 2021
बेरहमी से धुना, हवाई फायर करते हुए आरोपी हो गए फरार! भोपाल। राजधानी में खुलेआम घूम रहे हिस्ट्रीशीटर बदमाशों आतंक बदस्तूर जारी है। बीती रात कोहेफिजा इलाके में बदमाश जावेद उर्फ चिराटा ने एक डेंटर पर दो हजार रुपए की अड़ीबाजी की। रकम नहीं मिलने पर उसके साथ बेरहमी से मारपीट की। इतना ही नहीं […]