आचंलिक

नलखेड़ा में अतिक्रमण की भरमार… जनता बेहाल

  • मुख्य मार्गों से अतिक्रमण हटाने के लिए रहवासियों ने दिया आवेदन-क्या परिषद इससे निजात दिला पाएगी या और अधिक बढ़ेगा

नलखेड़ा। नगर की मुख्य सड़के अतिक्रमण की चपेट में है जिसके चलते आवागमन में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। छोटे-छोटे दुकानदारों से लेकर बड़े से बड़े रसूखदारों द्वारा अतिक्रमण किया हुआ है। अतिक्रमण को हटाने के लिए नगर परिषद द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही। महज दिखावे को लेकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई होती है। वहीं नगर में सड़कों की चौड़ाई वैसे भी कम है दुकानदारों ने अपनी दुकानों के आगे सड़क पर काफी आगे तक तख्ते, बैंच, तंबू लगाकर बिक्री के लिए सामान सड़क पर सजा रखा है। कई जगह पूरी दुकानदारी ही सड़क पर चल रही है। सड़क पर ही ग्राहक के लिए कुर्सी डाल देते हैं। मुख्य मार्गों की दुकानों, गुमटी और ठेलों के आगे भी लोग अपनी मोटरसाइकिल खड़ी कर देते हैं। अतिक्रमण ने पूरे बाजार का हुलिया बिगाड़कर रख दिया है। लगातार बढ़ रहे अतिक्रमण के कारण सड़कें और तंग हो गई है। मुख्य मार्गों पर बार-बार जाम लगना आम बात हो गई है। यही स्थिति नगर के आमला रोड, जवाहर मार्ग, बगलामुखी रोड आदि जगह पर निर्मित होती है। उक्त समस्या नगर के सभी जिम्मेदार लोगों की नजर में है लेकिन जब कुछ अधिकारियों के द्वारा कार्यवाही की जाती है तो राजनीतिक दबाव के कारण कोई भी कार्रवाई करना उचित नहीं समझता है।



अतिक्रमण हटाने के लिए नगर परिषद को दिया आवेदन
नागरिकों ने आवेदन देकर नगर में अतिक्रमण को हटाने की मांग की। नगर के सरदार पटेल चौराहा के नागरिकों ने आवेदन देकर बताया कि नगर में हुए अतिक्रमण को अलग हटाया जाए। हाथ थेला, वाहन मोटरसाइकिल व चौक चौराहे पर अतिक्रमण कर रखा है हटाकर चौराहे को चौड़ा किया जाए व साफ स्वच्छ करने की मांग की गई है लेकिन आवेदन देने के 6 दिन बाद भी जिम्मेदार द्वारा आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है और रहवासी समस्याओं से जूझने पर मजबूर हो रहे हैं। अभी तक अतिक्रमण की समस्या समाचार पत्रों के माध्यम से ही उठाया जा रहा था, अब नागरिक स्वयं आगे आकर अतिक्रमण हटाने की मांग कर रहे हैं तो जिम्मेदार कार्यवाही क्यों नहीं कर रहे हैं यह समझ से परे है। जब इस विषय में नगर परिषद सीएमओ से चर्चा करना चाही तो उनके द्वारा फोन रिसीव नहीं किया गया।

नहीं मिलती पार्किंग की जगह
नगर के प्रमुख मार्गों पर अतिक्रमण के कारण पार्किंग की समस्या भी है। नगर के पटेल चौराहा, शिवाजी चौराहा, जवाहर मार्ग पर अतिक्रमण के कारण दो पहिया वाहन पार्किंग में समस्या आ जाती है। कई बार दुकानदार एवं वाहन मालिक के बीच बहस हो जाती है।

सीएम हेल्पलाइन में भी शिकायत करने पर नहीं होता निराकरण
लोगों के द्वारा अतिक्रमण की शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर की जाती है तो समस्या हल करवाने के बजाय अधिकारी गोलमोल जवाब देकर शिकायत ही बंद करा दी जाती है। जबकि शिकायतकर्ता को संतुष्ट पूर्वक शिकायत का निराकरण करना आवश्यक है लेकिन यहां पर उल्टा हो रहा है।

Share:

Next Post

विभागीय संविलियन एवं अन्य मांगों को लेकर कर्मचारी संगठन की बैठक संपन्न

Fri Nov 18 , 2022
महिदपुर। मंगलवार को काजीखेड़ी डेम पर मध्य प्रदेश बिजली आउटसोर्स कर्मचारी संगठन के बैनर तले महिदपुर डिवीजन की बैठक संपन्न हुई जिसमें आउटसोर्स कर्मचारी संगठन ने अपनी मांगों को लेकर किए जा रहे आंदोलन के विषय में कर्मचारियों को जानकारी दी। आउटसोर्स कर्मचारी अपने बिजली विभाग में संविलियन की मांग को लेकर कई वर्षों से […]