देश मध्‍यप्रदेश

स्वच्छता के क्षेत्र में फिर से नम्बर-1 पर रहे मध्य प्रदेश: शिवराज

– मुख्यमंत्री ने ली स्वच्छ सर्वेक्षण-2023 की तैयारियों की बैठक

भोपाल (Bhopal)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने कहा कि देश में स्वच्छता सर्वेक्षण (cleanliness survey in the country) फिर से प्रारंभ होगा। प्रदेश स्वच्छता में नम्बर-1 (Number-1 in state cleanliness) पर ही रहना चाहिए। प्रदेश ने स्वच्छता के क्षेत्र में नया रिकार्ड (new record) बनाया है। ऐसा ही कीर्तिमान फिर से कायम रखा जाये। स्वच्छता सर्वेक्षण की पूरी तैयारी कर ली जाये।

मुख्यमंत्री चौहान शुक्रवार शाम को मंत्रालय में स्वच्छ सर्वेक्षण-2023 की तैयारियों के संबंध में समस्त कमिश्नर एवं कलेक्टर्स से वर्चुअली चर्चा कर रहे थे। बैठक में नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता प्रदेश के लिए अति आवश्यक है। कमिश्नर-कलेक्टर जनता को साथ लेकर शहरों की रैंकिंग सुधारने में जुट जायें। लोगों में स्वच्छता केलिए प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा हो। अपने शहर को सर्वश्रेष्ठ बनाने की कोशिश करें। शहरों को ओडीएफ बनाने के प्रयास हों। नगरीय निकायों को कचरा मुक्त कर स्टार रेटिंग दिलाने की कोशिश की जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों में 24X7 सफाई की सुविधाएँ चाक-चौबंद रहें और कचरा प्रबंधन की व्यवस्थाएँ भी हों। स्थानीय जन-प्रतिनिधि और युवाओं को स्वच्छता के कार्य में जोड़ें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता के लिए 1 मई से जमीनी सर्वेक्षण प्रारंभ होगा। प्रदेश में 23 अप्रैल से स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जायेगा। शहरों में वर्ष भर स्वच्छता बनी रहे। इसके लिये स्वच्छता के लिए मेहनत से जुटें और नवाचार भी करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पुन: सीएम जन-सेवा अभियान चलाया जाकर जनता की समस्याओं का तेजी से निराकरण किया जायेगा। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

ग्रीष्मकाल में पेयजल के लिए करें पुख्ता इंतजामः मुख्यमंत्री चौहान

Sat Apr 22 , 2023
– मुख्यमंत्री ने ग्रीष्मकालीन व्यवस्थाओं संबंधी ली बैठक भोपाल (Bhopal)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ((Chief Minister Shivraj Singh Chouhan)) ने कहा कि ग्रीष्मकाल में पेयजल (drinking water in summer) के लिए पुख्ता इंतजाम (Strong arrangements) सुनिश्चित करें। जनता की शिकायत आने पर तत्काल निराकरण की कार्यवाही हो। पानी की समुचित व्यवस्थाएँ बनी रहें। प्रशासन द्वारा […]