देश मध्‍यप्रदेश राजनीति

मोहन यादव ने दिल्ली में की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात, जानिए अचानक मिलने की वजह

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव (Chief Minister Dr Mohan Yadav) ने मंगलवार को दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) से मुलाकात की. इस दौरान एमपी के राजनीतिक हालातों पर बातचीत हुई. इसके अलावा सीएम ने शाह को आगामी सरकार के कार्यक्रमों से अवगत कराया. मुलाकात से बाद सीएम ने सोशल मीडिया X पर औपचारिक मुलाकात की तस्वीर भी शेयर की. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के साथ सीएम की एक सप्ताह के भीतर दूसरी मुलाकात थी.

सीएम ने बताया, ‘ आज दिल्ली प्रवास के दौरान कई महत्वपूर्ण मंत्रालयों की मंत्रियों से मुलाकात की. मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित से मिला. मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि वे लगातार मध्य प्रदेश के विकास में सहयोग करते रहते हैं. अपनी मां के नाम के पेड़ के अभियान के लिए आमंत्रित किया है. उन्होंने हां भी की है. मध्य प्रदेश में साढ़े 5 करोड़ पेड़ लगाने का लक्ष्य है.’


सीएम मोहन यादव की अध्यक्षता में आयोजित की गई कैबिनेट बैठक में मंगलवा को ऐतहासिक फैसला लिया गया है. इस बैठक में सरकार ने 52 साल पुराना नियम बदल दिया. इस फैसले के तहत अब सरकार मंत्रियों का इनकम टैक्स नहीं भरेगी, बल्कि मंत्रियों को अपना इनकम टैक्स खुद भरना होगा. मुख्यमंत्री सहित सभी मंत्री अपना इनकम टैक्स भरने से सरकार का आर्थिक बोझ कम होगा. यह नियम 1972 से चल रहा था. अब तक सरकार मंत्रियों का इनकम टैक्स भर रही थी.

इससे पहले सीएम यादव ने देश में आपातकाल को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. सीएम बोले कि कांग्रेस को देश से माफी मांगनी चाहिए. कांग्रेस ने संविधान की धज्जियां उडाई हैं. मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव ने कहा, “जैसा कि पीएम ने कहा, आपातकाल भारतीय लोकतंत्र पर एक धब्बा है. कांग्रेस को देश से माफी मांगनी चाहिए. उनके अत्याचारों के कारण कई परिवार बर्बाद हो गए. ये सभी लोग हमारे इतिहास के काले दौर के लिए जिम्मेदार हैं. सीएम ने कहा कि आज विपक्षी नकली संविधान लेकर नौटंकी कर रहे हैं कांग्रेस ने 100 से ज्यादा संविधान में संशोधन किये.

Share:

Next Post

उम्रकैद और एक करोड़ का जुर्माना...पेपर लीक पर अध्यादेश लाएगी योगी सरकार

Tue Jun 25 , 2024
लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में आरओ-एआरओ परीक्षा और सिपाही भर्ती परीक्षा (RO-ARO Exam and Constable Recruitment Exam) में हुए पेपर लीक को देखते हुए योगी आदित्यनाथ की सरकार (Yogi Adityanath’s government) ने उत्तर प्रदेश सार्वजनिक परीक्षा अध्यादेश 2024 (Public Examinations Ordinance 2024) लाने का फैसला किया है. इस अध्यादेश के तहत पेपर लीक में […]