देश भोपाल मध्‍यप्रदेश

मप्रः किसानों को अगले 2 वर्षों में मिलेगी 24 घंटे बिजली: कृषि मंत्री पटेल

भोपाल। प्रदेश के किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल (Minister Kamal Patel) ने शनिवार को हरदा (Harda) के ग्राम चौकी में लगभग 9 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली सड़क का भूमि-पूजन (street worship) किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास का पहिया (wheel of development in the state) तेजी से घूमता रहेगा। क्षेत्र के चहुँमुखी विकास में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी। कृषि मंत्री ने कहा कि आगामी 2 वर्षों में हरदा जिले के प्रत्येक किसान को 24 घंटे बिजली की उपलब्धता (24 hours electricity availability) सुनिश्चित की जायेगी।

मंत्री पटेल ने कहा कि आगामी 2 वर्षों में जिले में लगभग 24 विद्युत सब-स्टेशन स्थापित किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। वर्तमान में 3 सब-स्टेशन स्थापित हो गये हैं, जबकि पहले हरदा जिले में मात्र एक सब-स्टेशन हुआ करता था। सभी विद्युत सब-स्टेशन के तैयार हो जाने पर हरदा के किसानों को पर्याप्त बिजली आपूर्ति होगी। किसान अपनी आवश्यकता अनुसार बिजली का उपभोग खेती-किसानी में कर सकेंगे। लगभग 17 वर्ष पूर्व जब हमारी सरकार बनी थी, तब प्रदेश में मात्र 2990 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होता था। आज 21 हजार मेगावॉट से अधिक बिजली का उत्पादन हो रहा है।

पटेल ने ग्राम चौकी में 8 करोड़ 78 लाख 86 हजार रुपये की लागत से निर्मित होने वाली सड़क का भूमि-पूजन किया। मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण (पीआईयू) की हरदा इकाई द्वारा प्रधानमंत्री ग्राम-सड़क योजना के तृतीय चरण में हंडिया से नयापुरा तक डामरीकृत मार्ग का निर्माण किया जा रहा है। सड़क की लंबाई 13.97 किलोमीटर है, जबकि चौड़ाई 5.5 मीटर है। डामरीकृत सड़क निर्माण हो जाने से आमजन को आवागमन और किसानों को खेती-किसानी में सहूलियत मिलेगी।

माँ नर्मदा के नेमावर में किये दर्शन
कृषि मंत्री पटेल ने आज माँ नर्मदा के नाभि-कुंड नेमावर में दर्शन कर पूजा-अर्चना की। उन्होंने माँ नर्मदा से किसानों और प्रदेश की समृद्धि के लिये कामना की।

बारंगा में लोगों की सुनी समस्याएँ
कृषि मंत्री ने गृह ग्राम बारंगा में विधानसभा क्षेत्रवासियों की समस्याओं को सुना और अधिकारियों को उनके निराकरण के निर्देश दिये। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

नियति और पुरुषार्थ का समन्वय है ‘प्रधानमंत्री संग्रहालय’

Sun Apr 24 , 2022
– रामबहादुर राय तीन मूर्ति परिसर में ही प्रधानमंत्री संग्रहालय क्यों बनाया गया? यह जिज्ञासा भी हो सकती है और इसे प्रश्न भी कह सकते हैं। ये दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। इसका समाधान नृपेंद्र मिश्र के कथन में है। प्रधानमंत्री संग्रहालय के लोकार्पण का अवसर था। वे नेहरू स्मारक संग्रहालय और […]