उज्‍जैन

नानाखेड़़ा और नागझिरी क्षेत्र बने हॉटस्पॉट…157 नये पॉजीटिव

  • उज्जैन शहर के इन क्षेत्रों की ज्यादातर कॉलोनियों में 30 फीसदी से ज्यादा मरीज-160 कॉलोनियों में फैला संक्रमण-इसके अलावा घरों में भी बुखार के संक्रमित लोग मौजूद

उज्जैन। स्वास्थ्य विभाग की आज सुबह जारी हुई कोरोना बुलेटिन में उज्जैन शहर सहित दो तहसीलों में कोरोना के 157 नये मरीज और मिल गए, इन्हें मिलाकर एक्टिव केस 974 तक पहुँच गए हैं। हाल ही में आए नये कोरोना मरीजों में नानाखेड़ा खेड़ा और नागझिरी क्षेत्र की दो दर्जन से ज्यादा कॉलोनियों में ज्यादा मरीज मिले हैं। पिछले एक सप्ताह से यह दोनों क्षेत्र कोरोना का हॉटस्पॉट बने हुए हैं। इनके अलावा शहरी क्षेत्र की 160 से ज्यादा कॉलोनियों में संक्रमण फैल चुका है। कोरोना की बढ़ती रफ्तार के बीच आज सुबह फिर जिले में 157 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आ गई। कल दिनभर में 2224 सेम्पल कलेक्ट कर कोरोना जाँच के लिए भेजे गए थे। 157 नये पॉजीटिव केसों में से 155 मामले उज्जैन शहर के हैं जबकि 1 मरीज महिदपुर में पॉजीटिव आया है और दूसरा घटिया तहसील में मिला है।


आरआर टीम के प्रभारी डॉ. रौनक एलची के मुताबिक पिछले 4 दिनों की तरह आज भी उन्होंने नानाखेड़ा और नागझिरी क्षेत्र की ज्यादातर कॉलोनियों में नये आए मरीजों के यहाँ घर के आगे बैरिकेट्स लगाकर कंटेनमेंट एरिया बनाया है। उन्होंने बताया कि अभी तक तीसरी लहर में शहर की 150 से ज्यादा कॉलोनियों में मरीजों को होम आईसोलेटेड किया जा चुका है। देवासरोड और इंदौर रोड की कॉलोनियों में कोरोना के मरीज ज्यादा मिल रहे हैं। हालांकि मक्सीरोड, आगर रोड की कॉलोनियाँ भी संक्रमण से अछूती नहीं रह गई हैं। अभी तक 1 जनवरी से लेकर 15 जनवरी तक कोरोना के केस शहर के 54 वार्डों तक पहुंच गए हैं। संक्रमण के दायरे में भैरवगढ़ जेल, बत्तीसवीं बटालियन के कुछ जवान भी आ गए हैं।

होम आईसोलेशन की संख्या हजार की ओर बढ़ रही
आज आए 157 नये केस के बाद हालांकि अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या 20 तक पहुँच गई है लेकिन 954 एक्टिव मरीजों को अभी भी होम आईसोलेशन में रखकर उपचार किया जा रहा है। यह आंकड़ा अब 1 हजार के करीब पहुंच गया है। पहली तथा दूसरी कोरोना लहर के बाद यह पहली बार देखने में आ रहा है कि एक पखवाड़े में ही होम आईसोलेशन में उपचार कराने वाले मरीजों की संख्या हजार तक पहुँचने वाली है।

ठीक ढंग से नहीं हो रही सख्ती इसलिए बढ़ रहे मामले
एक सप्ताह पहले तीसरी लहर की आशंका के चलते पुलिस प्रशासन ने जोर-शोर से बगैर मास्क वालों को पकड़कर जुर्माना वसूलने की कार्रवाई शुरू की थी लेकिन यह मात्र एक-दो दिन चलने के बाद बंद कर दी गई। अब शहर में कहीं भी बिना मास्क पहने लोगों को नहीं रोका जा रहा है और कई लोग बगैर मास्क लगाए ही बाजारों में घूमते दिखाई दे रहे हैं, वहीं दुकानों में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता नजर नहीं आ रहा है। इधर पिछले 5 दिनों से लगातार 100 से ज्यादा कोरोना पॉजीटिव मरीज निकल कर सामने आ रहे हैं। ऐसे में पुलिस कप्तान को इस ओर ध्यान देकर कोरोना गाईड लाईन का पालन लोगों से कराना चाहिए।

Share:

Next Post

आज 15 से 18 वर्ष वालों को स्कूलों में लगेगी वैक्सीन, गाँव में कार्य धीमा

Sat Jan 15 , 2022
उज्जैन। एक ओर जहां तेजी से कोरोना फैल रहा है, वहीं वैक्सीन को लेकर अफवाह भी जारी है और इसी कारण ग्रामीण क्षेत्रों में 15 से 18 के बीच का वैक्सीनेशन पिछड़ा हुआ है जिस पर कलेक्टर ने नाराजगी जताई है। आज स्कूलों में शनिवार को टीकारण किया जाएगा तथा जो बच्चे स्कूल नहीं आ […]